हाथरस: मनीषा केस में मिली CBI जांच को मंजूरी, क्या सुशांत मामले की तरह ही दबता चला जाएगा इन्वेस्टिगेशन?

हाथरस: मनीषा केस में मिली CBI जांच को मंजूरी, क्या सुशांत मामले की तरह ही दबता चला जाएगा इन्वेस्टिगेशन?
▶️शुक्रवार को मनीषा के परिजन ने बटोरी अस्थियां, कहा जब तक नहीं मिलेगा इंसाफ अस्थियां विसर्जित नहीं करेगें
▶️लगातार इंसाफ की गूंज के बाद उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सीबीआई को सौंपा मनीषा का केस
▶️सुशांत केस में हो रही ढील के बाद सीबीआई से उठा जनता का भरोसा, लोगों ने कहा सीबीआई नहीं कर सकेगी इंसाफ

CBI Probe in Hathras Gangrape Incident | प्रदेश के हाथरस में जो घटना हुई है जो भी इस स्टोरी को सुन रहा है उसकी रूह कांप जा रही है। इस घटना में झुलसी मनीषा के लिए लगातार पूरा देश आवाज़ उठा रहा है। कल यानी शुक्रवार को मनीषा के परिजनों ने अपनी बच्ची की अस्थी (ashes) चुनी, और कहा कि जबतक उनकी बच्ची को इंसाफ नहीं मिल जाता तब तक हम अस्थियां विसर्जित नहीं करेंगे।

योगी सरकार ने दिया जांच के आदेश

देश, मीडिया औऱ औऱ पीड़ित परिवार की मांग के बाद आखिरकार प्रशासन झुका और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Adityanath government) ने हाथरस केस में सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं। सीएम योगी ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दे दी है की अब मनीषा के इंसाफ के लिए सीबीआई (CBI) लड़ेगी।

सीएम योगी ने अपने ट्वीट में लिखा कि बहन-बेटियों को क्षती पहुंचाने वाले अपराधियों को दंड ज़रूर मिलेगा, और ऐसा दंड जो भविष्य में उदाहरण पेश करेगा। और इस तरह से सीएम योगी ने इस केस को सीबीआई के हांथों सौंप दिया।

सीबीआई जांच पर लोगों को भरोसा नहीं

सुशांत सिंह राजपूत केस के कारण पूरे देश में सीबीआई काफी चर्चा का विषय रही है। सुशांत की मौत रहस्यमय (Sushant Death Mystery) बनने के बाद पूरे देश में इस केस को सीबीआई हाथों सौंपने की मांग तेज़ हुई, लेकिन हुआ क्या? कुछ भी नहीं… सुशांत केस को सीबीआई के हाथों में गए महीनों का समय बीत चुका है लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हो सकी है। शुरूआती दिनों में सीबीआई ने जमकर काम किया उसके बाद ठंडी पड़ गई।

केस में ड्रग एंगल निकलकर आने के बाद एनसीबी अपने कार्य में जुट गई औऱ सीबीआई का नाम धुंधलाता चला गया। यही कारण है कि जनता को अब सीबीआई पर भरोसा नहीं रहा, उनका मानना है कि मनीषा के साथ भी वही होगा जो सीबीआई ने सुशांत के साथ किया है।

क्या मनीषा को इंसाफ दिला पाएगी सीबीआई?

हाथरस कांड के बाद लगातार पीड़ित परिवार से लेकर आम जनता तक इंसाफ की मांग कर रहे हैं ऐसे में योगी सरकार ने केस को सीबीआई के हाथों तो सौंप दिया है लेकिन लोगों में ये अभी भी चींता का विषय है कि क्या सीबीआई मनीषा को इंसाफ दिला पाएगी?

अब सवाल ये उठता है कि आखिर लोगों में सीबीआई के प्रति ऐसी छवी बनी कैसें? तो बता दें कि सुशांत केस में सीबीआई जिस तरह से धीमी गती से काम कर रही है यही कारण है लोगों में ये सवाल उठा है कि सीबीआई भी बिकाऊ है औऱ जिस तरह से वो सुशांत केस में ढीली पड़ी है ऐसे में मनीषा को भी इंसाफ मिलने में सालों लग जाएंगे।

अब इस केस में सीबीआई की एंट्री तो हो गई है लेकिन देखना ये होगा कि क्या सीबीआई इस केस की निष्पक्ष रूप से जांच करती है या मामला धीरे-धीरे दबता चला जाएगा।

आगे पढें

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।