दाढ़ी रखने पर मुसलमान सब-इंस्पेक्टर निलंबित

दाढ़ी रखने पर मुसलमान सब-इंस्पेक्टर निलंबित
▶️ यूपी के सब इंस्पेक्टर इंतेसार अली को बिना अनुमति दाढ़ी बढ़ाने पर किया गया निलंबित
▶️ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह बोले- कानून के दायरे में रहकर की गई कार्रवाई
▶️ सोशल मीडिया पर मामले की काफी चर्चा, लोगों द्वारा मामले को धर्म से जुड़ा जा रहा

Baghpat Sub-Inspector Suspended For Bearding UP: उत्तरप्रदेश के बागपत से पुलिस से जुड़ा एक मामला सामने आया है। जिसकी सोशल मीडिया पर काफी चर्चा हो रही है। मामला एक मुसलमान सब इंस्पेक्टर के दाढ़ी (Muslim Sub-Inspector Suspended For Bearding) रखने से जुड़ा हुआ है। गौरतलब बात यह है कि इस मामले को लोगों द्वारा धर्म से जोड़ा जा रहा है। मामले को लेकर दोनों पक्षों की अलग-अलग राय सामने आ रही है।

क्या है पूरा मामला?

मामला उत्तरप्रदेश बागपत के रमाला थाना क्षेत्र (Ramala Thana Area Baghpat Uttarpradesh) से जुड़ा हुआ है। रमाला थाना क्षेत्र में तैनात सब इंस्पेक्टर इंतेसार अली को बिना इजाजत दाढ़ी रखने के कारण निलंबित कर दिया गया था। निलंबित सब इंस्पेक्टर इंतेसार अली (Sub-Inspector Intesar Ali) का कहना है कि पिछले साल नवंबर में उनके द्वारा दाढ़ी बढ़ाने के लिए इजाजत मांगी थी, जिस पर अभी तक कोई जवाब नहीं दिया गया था। उन्होंने यह भी कहा कि जरूरत पड़ने पर अदालत भी जाएंगे।

मामले के ऊपर बागपत के पुलिस अधीक्षक (SP) ने मीडिया से बातचीत करते हुए मामले के ऊपर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि बागपत के थाना रमाला में तैनात सब इंस्पेक्टर इंतेसार अली को बिना इजाजत दाढ़ी रखने के कारण निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि यूपी पुलिस (UP Police) एक अनुशासित फोर्स है। बागपत जिले (Baghpat Distt.) के प्रमुख होने के कारण नियमों का पालन करना मेरा काम है। सब इंस्पेक्टर इंतेसार अली को कई बार नोटिस भेजा गया जिसे उन्होंने नजरअंदाज किया। जिस कारण आज उन्हें निलंबित किया गया है। मामले की पूरी कार्रवाई नियमों के अनुसार ही की गई है। पुलिस अधीक्षक द्वारा यह भी स्पष्ट किया गया कि अगर मामला कोर्ट में जाता है तो हम तैयार है।

Sub-Inspector Intesar Ali Suspended In Baghpat UP For Bearding Without Permission

क्या कहता है कानून

भारतीय संविधान के आर्टिकल 25 (Indian Constitution Article 25) में स्पष्ट तौर पर लिखा गया है कि इस देश में रहने वाले प्रत्येक नागरिक को किसी भी धर्म को मानने की, धर्म के नियमों के मुताबिक आचरण की और धर्म के प्रचार-प्रसार की स्वतंत्रता है। दाढ़ी रखना या किसी भी धर्म की पहचान को अपनाने के लिए प्रत्येक नागरिक स्वतंत्र है।

गौरतलब बात यह है कि यूपी के बागपत (UP Baghpat Matter) से सामने आया यह मामला थोड़ा अलग है। पुलिस द्वारा ड्रेस कोर्ट को लेकर कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाए गए हैं। इन नियमों के अनुसार, सिख समुदाय (Sikh Community) के लोगों को छोड़कर पुलिस प्रशासन में तैनात कोई भी पुलिसकर्मी बिना विभाग की अनुमति के दाढ़ी नहीं रख सकता है।

आगे पढ़ें-

Manoj Thayat

Manoj Thayat

पत्रकारिता मनोज का जुनून है। इसी जुनून को जीने के लिए और अपने तरीके से ख़बरों को आप तक पहुँचाने के लिए मनोज The Toss News के साथ जुड़े हैं। मनोज को पढ़ने, लिखने और संवाद करने का बेहद शौक है। देश-दुनिया की ख़बरों को आप तक समय-समय पर पहुँचाना मनोज का लक्ष्य है। आप सभी रोज़ाना मनोज द्वारा लिखी गईं ख़बरें पढ़ सकते हैं और Comment में अपना Feedback भी दे सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *