संजीत अपहरण केस: जारी है शव की खोज, क्राइम पेट्रोल और सावधान इंडिया देखकर किडनैपर्स हुए इंस्पायर्ड

संजीत अपहरण केस: जारी है शव की खोज, क्राइम पेट्रोल और सावधान इंडिया देखकर किडनैपर्स हुए इंस्पायर्ड
▶️ Sanjeet Kidnapping Case: संजीत के शव की पहचान के लिए होगा सभी शवो का डीएनए टेस्ट
▶️क्या क्राइम पेट्रोल और सावधान इंडिया देखकर किडनैपर्स ने बनाई अपहरण की योजना
▶️कानपुर पुलिस (Kanpur Police) पर संजीत के परिवावालों के सवालों का हमला, पुलिस केस को गम्भीरता से नहीं ले रही

कानपुर के बर्रा क्षेत्र (Barra Kanpur News) के एक लैब टेक्नीशियन संजीत यादव (Lab Technician Sanjeet Yadav) की हत्या कर उसके लाश को पांडु नदी में फेंक दिया गया। पुलिस अभी तक लाश की खोज में जुटी हुई है। पुलिस के मुताबिक उन्हें जरूरत पड़ने पर पांडु नदी के आस पास के सभी शवो का डीएनए टेस्ट (DNA Test Of Dead body) करेना पड़ेगा।

Sanjeet Kidnapping Case: कौन है संजीत यादव, कैसे हुआ अपहरण?

बर्रा थाना क्षेत्र (Barra thana Chetra) के लैब टेक्नीशियन संजीत यादव (Lab Technician Sanjeet Yadav) को 22 जून के दिन उनका अपहरण किया गया था। बताया जा रहा है कि उनका अपहरण उनके दोस्तों ने मिलकर किया था। लैब टेक्नीशियन के अपहरणकर्ताओं के अनुसार, 26 जून को संजीत की हत्या (sanjeet yadav murder case) कर लाश को पांडु नदी में फेंक दिया गया था। दरअसल, जानकारी ये है कि संजीत के दोस्तों ने संजीत को जन्मदिन का बहाना बना कर अपहरण किया और फिर कत्ल कर लाश को पांडु नदी में फेंक दिया।

Sanjeet Kidnapping Case

Sanjeet Kidnapping Case: कैसे रचाया अपहरण का खेल

अपहरण के मास्टरमाइंड का कहना है कि वे सभी क्राइम पेट्रोल और सावधान इंडिया (crime petrol & savdhan india) देखना पसंद करते हैं। उसी को देखकर सभी किडनैपर्स ने अपहरण और हत्या की योजना बनाई। कब, कैसे, कहां संजीत को बुलाना है, और पुलिस को कैसे चख्मा देना है, सारी तैयारियां अपहरण के 15 दिन पहले ही हो चुकी थी।

Sanjeet Kidnapping Case: कानपुर पुलिस सवालों के कट्टघरे में

संजीत के अपहरण और हत्या (Sanjeet Kidnapping & Murder News) के बाद, पुलिस अब सावालो से घिर चुकी है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने सभी आरोपियों को 30 लाख की फिरौती तो दिलवा दी, लेकिन संजीत की लाश का कोई अता पता नहीं चल पाया है। साथ ही संजीत के परिवार का दावा है कि पुलिस (Kanpur police) इस मामले को गंभीरता से नहीं ले रही है, बल्कि आगे टाल रही है।

इन सभी दावे को सुनने के बाद, सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कानपुर के एएसपी (SSP) और सीओ (CO) समेत 10 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया। उसके बाद मामले की जांच कर पुलिस ने कुल 7 आरोपियों को अपनी गिरफ्त में ले लिया है।

आपको बता दें कि पुलिस का कहना है कि जरूरत पड़ने पर पांडु नदी के पास सभी शवो का डीएनए टेस्ट (DNA test of dead body) किया जाएगा। साथ ही लाश की खोज के लिए सर्च ऑपरेशन जारी है।

आगे की खबर के लिए बने रहे The Toss News के साथ

ये भी पढ़े :

Omkar Bhaskar

Omkar Bhaskar