सुशान्त के लिए विवादित बयान, RJD ने कहा सुशान्त कभी राजपूत था ही नहीं

सुशान्त के लिए विवादित बयान, RJD ने कहा सुशान्त कभी राजपूत था ही नहीं
▶️सहरसा से RJD विधायक अरुण यादव ने सुशान्त के लिए दिया विवादित बयान, चुनाव पर पड़ सकता है असर
▶️विधयक अरुण यादव ने कहा सुशान्त राजपूत था ही नहीं, अगर होता तो फांसी नहीं लगाता हालातों से लड़ता
▶️इससे पहले तेजस्वी यादव ने एक फ़िल्म सिटी का नाम सुशान्त के नाम पर रखने की बात कही थी

RJD’ Arun Yadav’s Comment on Sushant: बिहार चुनाव की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है और नेताओं के विवादित बयान भी आना शुरू हो गए हैं। और सुशांत केस को सभी दल लगभग भुनाने में लगे हैं। बिहार के सहरसा (Saharsa Bihar) से एक RJD विधायक है अरुण यादव वो पहुंचे तो थे एक सड़क के उद्धघाटन में लेकिन उसी बीच उनका एक विवादित बयान आ गया और वो भी तब जब बिहार में विधानसभा चुनाव नजदीक है।

RJD विधायक अरुण यादव का विवादित बयान

नेताओं द्वारा विवादित बयान देना कोई नई बात नहीं है। जबसे सुशांत का मुद्दा उठा है तभी से सभी दल सुशांत से जुड़ी बातें करते रहते हैं, और लोगों का ध्यान खींचने की कोशिश करते हैं। इससे पहले तेजस्वी यादव गया में बन रही फ़िल्म सिटी का नाम सुशांत के नाम पे रखने की बात कह चुके है, और bjp में तो पहले से ही इस मुद्दे पे सियासत के आरोप लगते आये हैं, जबसे “ना भूले हैं और ना भूलने देंगे” वाले पोस्टर सामने हैं तबसे सियासी दंगल और तेज़ हो गए हैं।

आखिर मामला है क्या ?

दरअसल विधायक अरुण यादव (MLA Arun Yadav) सुशांत मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बोले कि, सुशांत सिंह राजपूत था ही नहीं, ये कहने के बाद वो ये भी बोले कि बुरा मत मानियेगा क्योंकि असली राजपूत कभी गले मे रस्सी लगाके नहीं मर सकता। वो आगे बोले कि राजपूत महाराणा प्रताप के वंशज हैं और साथ ही साथ यादवों के भी पुरखे थे।

Image source- the financial express

आपको बता दूँ, मौजूदा समय मे इस केस की जांच देश की तीन सबसे बड़ी एजेंसियां CBI, NCB और ED कर रही है। आज आलम ये है कि पूरा देश इस केस पर टकटकी लगाए बैठा हैं, हत्या और आत्महत्या दोनों ही पहलू पर जाँच चल रही है।

जब से सुशांत केस में ड्रग्स का एंगल (drugs angle) आया है तबसे इन केस ने और तूल पकड़ लिया है। NCB पहले ही रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शोविक चक्रवर्ती को गिरप्तार कर चुकी है और निरंतर जाँच में जुटी हुई है और जगह जगह छापेमारी जारी है।

राजपूत था तो मुक़ाबला करना चाहिए था

हालांकि उन्होंने सुशांत की मौत पर दुःख भी ज़ाहिर किया और तेजस्वी यादव ने सुशान्त केस में सीबीआई जाँच की माँग की थी उसका भी उल्लेख उन्होंने किया, और वो कहने लगे कि अग़र सुशांत राजपूत था तो उसे मुक़ाबला करना चाहिये था ना की गले मे धागा बांधकर आत्महत्या करनी चाहिए थी।

BJP ने किया पलटवार

भाजपा प्रवक्ता निखिल आनंद (BJP spokesperson Nikhil Anand) बोले सुशांत पर जाति संबंधी टिप्पणी करना बिल्कुल घटिया और लज्जाजनक है, ये लोग न घर के लोगों का सम्मान कर सकते हैं और न ही बिहार के लाल का। ऐसे बयानों को लेकर जनता राजद के लोगों को जूते से पीटेगी।

आगे पढ़ें-

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।