सुशांत की कंपनी में रिया और भाई शौविक हैं बराबर के हकदार, परिवार पर लटकी ED के शक की सुई

सुशांत की कंपनी में रिया और भाई शौविक हैं बराबर के हकदार, परिवार पर लटकी ED के शक की सुई
▶️ रिया से 8 घंटे चली पूछताछ में कई सवालों के जवाब नहीं दे पाई एक्ट्रेस
▶️ ED के शक के घेरे में रिया सहित पूरा परिवार आया, पिता इंद्रजीत और भाई शौविक से भी होगी पूछताछ
▶️ सुशांत केस में रोज़ आ रहा है नया मोड़, सीबीआई जांच हो गई शुरू

सुशांत सिंह राजपूत केस में अब नए मोड़ सामने आ रहे हैं। जिसके चलते अब यह मामला सीबीआई को सौंप दिया गया है। हाल ही में ED ने रिया चक्रवर्ती और उनके परिवार से पूछताछ के दौरान हाल में खरीदे गए दो फ्लैट के बारे में जांच पड़ताल की गई, जो कि 2012 और 2018 में खरीदी गई है। आपको बता दें कि रिया से तकरीबन 8 घंटे तक पूछताछ चली जिसमें वो कई सवालों का जवाब तक नहीं दे पाई।

ED ने दायर की रिया और पूरे परिवार के खिलाफ रिपोर्ट

Rhea Chakraborty under ED lens for property issues

ED ने रिया और पूरे परिवार के खिलाफ इंफॉर्मेशन रिपोर्ट (ECIR) दर्ज कर ली है। आपको बता दें कि इससे पहले बिहार पुलिस द्वारा भी रिया पर धोकाधड़ी और अन्य कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। जिसमें 15 करोड़ रुपए गायब होने का भी आरोप लगाया गया है। ED द्वारा शुक्रवार को रिया और उनके भाई शौविक से पूछताछ की गई थी। जिसके बाद ये बात सामने आई कि ये फ्लैट सुशांत और रिया के मिलने से पहले ही खरीदे जा चुके थे। अब इसमें कितनी सच्चाई है यह जांच का विषय है।

CBI जॉंच से कैसे पकड़े जाएंगे सुशांत के हत्यारे? जानने के लिए देखिये ये वीडियो!

सुशांत की कंपनी में पार्टनर हैं शौविक

खबरों की माने तो सुशांत ने अपने जीवन में कुल तीन कंपनी खरीदी थी। जिसमें से दो में रिया और उसका भाई (Rhea and Showik) बराबर के हिस्सेदार थे। रिया और शौविक डायरेक्टर हैं, कंपनी कुछ ही महीने पहले शुरू की गई है और अभी इसने ढंग से काम करना भी शुरू नहीं किया है।

आगे पढ़ें

Diksha Gupta

Diksha Gupta

दीक्षा उन लेखकों में से हैं जिनको शब्दों से बेहद प्यार हैं। और इन शब्दों को खूबसूरत तरीके से पन्ने पर उतारना दीक्षा को काफ़ी पसंद है। आप सब तक ख़बरें पहुंचाने के अलावा दीक्षा को कविताएं लिखना भी पसंद है। शौक की बात करें तो दीक्षा डांस में भी रूचि रखती हैं। और एक ऐसी लड़की हैं जिन्हें नई चीज़ें सीखने में मज़ा आता है। दीक्षा का मानना है की वह लक्ष्य कि प्राप्ति के लिए ही ईश्वर पर और खुद पर विश्वास करना पसंद करती हैं.