14 दिनों के न्यायिक हिरासत में अर्णब गोस्वामी

14 दिनों के न्यायिक हिरासत में अर्णब गोस्वामी
▶️ बुधवार सुबह गिरफ्तारी के बाद देर रात अलीबाग के एक अदालत में अर्णब गोस्वामी की हुई पेशी
▶️ अदालत ने अर्णब गोस्वामी समेत दो अन्य आरोपियों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा
▶️ रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्णब गोस्वामी के समर्थन में दिल्ली, मुंबई समेत कई स्थानों में प्रदर्शन

Arnab Goswami Judicial Custody: रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी जोकि रोजाना अपने प्राइम टाइम कार्यक्रमों के जरिए खबरों को लोगों तक पहुंचाते थे, कल यानी बुधवार सुबह से वे स्वयं मीडिया के लिए खबर बने हुए हैं। मुंबई पुलिस (Mumbai Police) द्वारा बुधवार सुबह अर्णब गोस्वामी (Arnab Goswami Arrest) को मुंबई स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया जाता है। देर रात अलीबाग के एक अदालत में अर्णब गोस्वामी की पेशी होती है जिसके बाद अर्णब की मुश्किलें बढ़ गई है।

14 दिनों की न्यायिक हिरासत में अर्णब गोस्वामी

बुधवार सुबह 8 बजे मुंबई के नजदीक रायगढ़ जिले की पुलिस द्वारा अर्णब गोस्वामी को गिरफ्तार किया जाता है। पूरे दिन अर्णब से जुड़ी तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया (Arnab Goswami Viral Video) पर वायरल होती रही। अर्णब की गिरफ्तारी को लेकर बीजेपी (BJP), कांग्रेस (Congress), शिवसेना (Shivsena) समेत अन्य पार्टियों के नेताओं के बयान दिनभर सामने आते रहे।

अर्णब की जमानत को लेकर देर रात अलीबाग के अदालत में कार्रवाई हुई। अलीबाग की अदालत ने अर्णब गोस्वामी समेत अन्य दो आरोपी फिरोज शेख (Firoz Sheikh) और नितेश शारदा (Nitesh Sharda) को 18 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। पुलिस ने अदालत से अर्णब गोस्वामी को 14 दिनों की हिरासत में रखने का अनुरोध किया लेकिन अदालत द्वारा स्पष्ट रूप से कहा गया कि हिरासत में लेकर पूछताछ करने की जरूरत नहीं है।

अर्णब के वकील गौरव पारकर (Arnab Goswami Lawyer Gaurav Parkar) ने कहा कि यह हमारे लिए बड़ी जीत है। अदालत में जमानत याचिका दर्ज कर दी गई है। गुरुवार को जमानत याचिका पर सुनवाई होगी।

किस मामले के कारण अर्णब पर हुई कार्रवाई

पीटीआई समाचार एजेंसी के मुताबिक, पुलिस का कहना है कि अर्णब गोस्वामी को कथित तौर पर 53 साल के इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक की आत्महत्या (Interior Designer Anvay Naik Suicide Case) के मामले में गिरफ्तार किया है।

Anab Goswami Judicial Custody In Anvay Naik Suicide Case

दरअसल मामला मई 2018 का है, अर्णब गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी चैनल (Arnab Goswami Republic Tv Chief Editor) के एक इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक ने आत्महत्या कर ली थी। आत्महत्या से पहले इंटीरियर डिजाइनर ने एक खत में लिखा था कि रिपब्लिक टीवी चैनल के स्टूडियो का इंटीरियर डिजाइनिंग करने के बाद भुगतान नहीं किया गया। आज बुधवार सुबह आत्महत्या के लिए उकसाने मामले में मुंबई पुलिस ने अर्णब गोस्वामी को आईपीसी की धारा 306 के तहत गिरफ्तार किया। इस मामले में रिपब्लिक टीवी (Republic Tv) की ओर से कहा जा रहा है कि केस बंद हो चुका था, जिसे आज दोबारा खोला गया है।

आगे पढ़ें-

Manoj Thayat

Manoj Thayat

पत्रकारिता मनोज का जुनून है। इसी जुनून को जीने के लिए और अपने तरीके से ख़बरों को आप तक पहुँचाने के लिए मनोज The Toss News के साथ जुड़े हैं। मनोज को पढ़ने, लिखने और संवाद करने का बेहद शौक है। देश-दुनिया की ख़बरों को आप तक समय-समय पर पहुँचाना मनोज का लक्ष्य है। आप सभी रोज़ाना मनोज द्वारा लिखी गईं ख़बरें पढ़ सकते हैं और Comment में अपना Feedback भी दे सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *