पूजन से पहले पीएम मोदी ने मंदिर परिसर में लगाया परिजात का पौधा, तमाम गुणों से भरपूर है ये पुष्प

पूजन से पहले पीएम मोदी ने मंदिर परिसर में लगाया परिजात का पौधा, तमाम गुणों से भरपूर है ये पुष्प
▶️RamMandir BhoomiPujan: पीएम मोदी ने आज श्रीराम जन्मभूमि परिसर में पारिजात का पौधा (Parijat Plant In Mandir Parisar) लगाया है
▶️पीएम ने इस पौधे (PM Modi Parijat Plant) को मंदिर परिसर में इसलिए रोपा है क्योंकि इस वृक्ष के फूल को ही भगवान राम के पूजा में इस्तेमाल किया जाता है
▶️परिजात का पौधा इतनी शक्तियों को समेटे है कि इसे छूने भर से ही कई रोगों का नाश हो जाता है

RamMandir BhoomiPujan News: देशभर के राम भग्तों में आज काफी उत्साह जगी है। आज ही वो दिन है जब करोड़ों लोगों का सदियों का सपना पूरा हुआ है। लंबे विवाद और इंतज़ार के बाद आखिरकार वो क्षण आ ही गया है जब भगवान राम (Bhagwan Ram) अपने भव्य गृह में शांतिपूर्ण तरिके से रहेंगे।

प्रधानमंत्री द्वारा आज रामलला (Ramlala Mandir) के निवास की नीव रखी गई इस बात से सभी अवगत हैं। लेकिन पीएम मोदी ने आज एक और ऐसा काम किया है जिसने सबकी निगाहें मोड़ ली है। जी हां…पीएम मोदी (PM Modi Parijat Plant) ने आज श्रीराम जन्मभूमि परिसर में पारिजात का पौधा (Parijat Plant In Mandir Parisar) लगाया है।

Parijat Plant: क्या होता है परिजात का पौधा

जैसा की हमने ऊपर बताया प्रधानमंत्री ने आज पूजन (RamMandir BhoomiPujan) से पहले परिजात का पौधा लगाया है, तो क्या आप जानते हैं इस पौधे का क्या महत्व है, और पीएम मोदी ने मंदिर परिसर (PM Modi Parijat Plant In Mandir Parisar) में इसे क्यों स्थापित किया है। अगर नहीं जानते तो आइए जानते हैं इस वृक्ष और इसकी माया के बारे में संपूर्ण बातें।

RamMandir BhoomiPujan Parijat Plant In Temple

Parijat Plant: परिजात के पौधे की मान्यता

• परिजात (Parijat Plant In Mandir Parisar) एक बेहद खूबसूरत पौधा है। ये बेहद आकर्षक भी लगता है।
• पीएम ने इस पौधे (PM Modi Parijat Plant In Mandir Parisar) को मंदिर परिसर में इसलिए रोपा है क्योंकि इस वृक्ष के फूल को ही भगवान राम के पूजा में इस्तेमाल किया जाता है।
• परिजात का पौधा (Parijat Plant) और फूल को सुगंधित पुष्प और हरसिंगार के नाम से भी विख्यात है।
• शायद आपको जानकार हैरानी हो कि ये पौधा इतनी शक्तियों को समेटे है कि इसे छूने भर से ही कई रोगों का नाश हो जाता है।
• परिजात के वृक्ष (Parijat Plant) में बहुत बड़ी मात्रा में फूल उगते हैं। अगर आपने आज आधे फूल तोड़ लिए तो अगले दिन उससे भी बड़ी मात्रा में भूल उग आते हैं।

Parijat Plant: लक्ष्मी माता को भी बेहद पसंद है परिजात का फूल

बता दें कि ये फूल इतना सूंदर है कि देवी लक्ष्मी को भी ये बेहद पसंद है। कहते हैं माता लक्ष्मी की पूजा के दौरान परिजात (Parijat Plant In Mandir Parisar) का फूल चढ़ाने से वो बहुत खुश होती हैं। इसके अलावा किसी भी तरह के पूजा-पाठ में इस फूल का इस्तेमाल करना बेहद शूभ माना जाता है। देवी-देवताओं को सजाने के लिए भी इस फूल का इस्तेमाल किया जाता है।

RamMandir BhoomiPujan Parijat Plant In Mandir Parisar

Parijat Plant: पेड़ से तोड़ना निषिद्ध माना जाता है

कहा जाता है कि जब माता सीता वनवास काट रही थी तब वो बेहद साधारण तरीके से अपना जीवन यापन करती थी। ऐसे में उनके पास महारानियों जैसे जेवरात नहीं थे जिसके कारण वो परिजात के फूल से ही खूद को सजाती थीं।

इसके अलावा मान्यता है कि इस पौधे से फूल को नहीं तोड़ा जाना चाहिए। कहते हैं रात होते ही पेड़ के सभी फूल खुद ही झड़ जाते हैं इसलिए इस फूल को रातरानी भी कहा जाता है।

आज प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi Parijat Plant) ने इस तमाम गुणों से भरपूर पोधे को मंदिर के परिसर (Parijat Plant In Mandir Parisar) में स्थापित किया है।

आगे की खबर के लिए बने रहे The Toss News के साथ

ये भी पढ़े :

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।