राजस्थान: नौकरी को लेकर प्रदर्शन में भड़की हिंसा, एक शख्स की मौत

राजस्थान: नौकरी को लेकर प्रदर्शन में भड़की हिंसा, एक शख्स की मौत
▶️राजस्थान के डूंगरपुर में लगातार तीसरे दिन प्रदर्शन जारी रहा औऱ इस प्रदर्शन में एक शख्स की मौत हो गई
▶️पुलिस की गोली से 17 साल का बच्चा जिसका नाम तरुण अहारी है उसकी मौके पर ही मौत हो गई, वहीं 5 लोग घायल हैं
▶️आसपास बने कई घर औऱ होटलों में आग लगा दिया गया, लाठियां चलाई जा रही थी

Rajasthan Manifestation: देशभर में हर तरफ हिंसा औऱ प्रदर्शन का माहौल बना हुआ है। एक तरफ कृषि विधेयक (Farm Bill 2020) पास होने से नाराज किसान प्रदर्शन कर रहे हैं तो दूसरी तरफ नौकरी के चक्कर में हिंसा भड़क रही है। दरअसल राजस्थान के डूंगरपुर (Dungerpur, Rajasthan) में लगातार तीसरे दिन प्रदर्शन जारी रहा औऱ इस प्रदर्शन को हिंसा में बदलते देर नहीं लगी और एक शख्स की मौत हो गई।

राजस्थान: प्रदर्शन में एक शख्स की मौत

दरअसल राजस्थान के आदिवासी इलाके में कुछ दिनों से प्रदर्शन चल रहा है यहां देर रात आंदोलनकारियों ने आक्रमक रूप ले लिया और पूरे खेरवाड़ा इलाके (Khedwara Area Rajasthan) को घेर लिया। जिसके बाद आसपास बने कई घर औऱ होटलों में आग लगा दिया गया, लाठियां चलाई जा रही थी।  

भीड़ ने इतना आक्रमक रुप ले लिया की इन प्रदर्शनकारियों को काबू में करने के लिए पुलिस ने गोलियां चलानी शुरू कर दी, जिसके बाद एक 17 साल का बच्चा जिसका नाम तरुण अहारी (Tarun Ahari) है उसे गोली जा लगी और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। इसके अलावा भी करीब 5 लोग घायल बताए जा रहे हैं।

Rajasthan Manifestation News

प्रदर्शनकारियों ने जमकर किया तोड़फोड़

बता दें कि आंदोलनकारियों (Agitator) ने जमकर उतपात मचाया, कई घरों में आग लगा दी जिससे लोग बेघर हो गए हैं इसके अलावा इन प्रदर्शनाकारियों ने करीब 20 किलोमीटर से ज्यादा इलाके को अपने कब्ज़े में कर लिया था जहां इलाके को घेरकर लूटपाट, और तोड़फोड़ कर रहे हैं।

माहौल इस कदर बिगड़ गया है कि करीब 7 घंटे से ही उदयपुर-अहमदाबाद के हाईवे को बंद कर दिया गया है। इसके अलावा डूंगरपुर बांसवाड़ा (Banswara) प्रतापगढ़ और उदयपुर के सभी इलाकों में धारा 144 लगा दिया गया है और सभी इंटरनेट सेवाएं भी बादित  कर दी गई हैं।

क्यों हो रही है झड़प?

आपको बता दें कि ये प्रदर्शन नौकरी (Protest For Employment) को लेकर किया जा रहा है। दरअसल 2018 में थर्ड ग्रेड टीचर (Third Grade Teacher) के लिए आदिवासी क्षेत्र में करीब 5431 पदों पर नौकरी निकाली गई थी। इस भर्ती में एसटी को 45 प्रतिशत का आरक्षण था वहीं एससी को 5% और सामान्य वर्ग को 50% आरक्षण दिया गया था है। आरक्षण के अनुसार भर्ती के लिए एससी और एसटी को केवल 36 पर्सेंट नंबर लाना होगा बल्कि सामान्य वर्ग को 60%  लानी ज़रूरत होगी।

ऐसे में 36% नंबर लाने वालों को भर्ती पूरी हो गई और सामान्य वर्ग के 1167 पद खाली रह गए क्योंकि 60% लाने में सभी छात्र नाकामयाब रहे। ऐसे में आदिवासी परीक्षार्थियों का कहना है कि जो पद बाकी बच गए हैं उनपर भी एसटी,एससी को भर्ती किया जाए जो 36% नंबर ला रहे हैं। जिसे हाई कोर्ट द्वारा माना कर दिया गया और ये प्रदर्शन शुरू होग गया।

आगे पढ़ें-

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।