बीमारी के ‘बादल’ छाए हैं और मुनाफा कमाए गरीब विरोधी सरकार, राहुल गांधी का सरकार पर तंज

बीमारी के ‘बादल’ छाए हैं और मुनाफा कमाए गरीब विरोधी सरकार, राहुल गांधी का सरकार पर तंज
▶️Shramik Special Train Fare: मजदूर वर्ग से गांव लौटने के लिए किराया लिए जाने पर राहुल गांधी (Rahul Gandhi News) ने सरकार पर कसा तंज
▶️बीमारी के ‘बादल’ छाए हैं, और आपदा को मुनाफ़े में बदल कर पैसा कमाने का काम कर रही है गरीब विरोधी सरकार- राहुल गांधी
▶️श्रमिक ट्रेने (Shramik Special Train List) चलने के बाद सरकार ने ऐलान किया था कि मजदूरों से किराया नहीं लिया जाएगा,लेकिन मजदूरों ने शिकायत की थी कि उनसे किराया वसुला गया है

Shramik Special Train Fare News: कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi News) हमेशा से ही केंद्र सरकार के कार्यों औऱ नीतियों पर सवाल उठाते रहे हैं। वो आय दिन ट्विटर (Rahul Gandhi Twitter) पर तमाम सवाल पूछकर सरकार को घेरने की कोशिश करते रहते हैं। और एक बार फिर राहुल गांधी ने कहा है कि नरेंद्र मोदी (Narendra Modi Goverment) की सरकार आपदा का फायदा उठाकर गरीबों से मुनाफा कमाने का काम कर रही है।

Shramik Special Train Fare: केंद्र सरकार कमा रही है गरीबों से मुनाफा- राहुल गांधी

राहुल गांधी (Rahul Gandhi News) सीधे तौर पर ये कह रहे हैं कि देश एक मुश्किल समय से गुजर रहा है ऐसे में भी सरकार की इंडियन रेलवे (Indian Railway News) किसी भी तरह से मुनाफा कमाने में लगी हुई है।

Rahul Gandhi's tweet cliam that he could have ended corona virus

राहुल गांधी ने ये मुद्दा एक रिपोर्ट को ट्वीट (Rahul Gandhi Tweet) करते हुए उठाया है। राहुल ने जिस रिपोर्ट को ट्वीट किया है उसमें ये कहा गया है कि कोरोना संक्रमण के इस युग में इंडियन रेलवे (Indian Railway News) के द्वारा श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Train) से 428 करोड़ रुपये तक वसुला गया है।

राहुल गांधी का द्वीट (Rahul Gandhi Tweet)

राहुल गांधी (Rahul Gandhi News) ने इस रिपोर्ट को पोस्ट करते हुए लिखा है कि, देश में अभी बीमारी के ‘बादल’ छाए हैं, और लोग मुसीबत में हैं लेकिन इसी बीच आपदा को मुनाफ़े में बदल कर पैसा कमाने का काम कर रही है गरीब विरोधी सरकार।

बताते चलें कि कोरोना वायरस के आक्रमक रूप लेने से अचानक ही 25 मार्च के दिन से राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन (Lockdown In India) लग गया था। जिसके बाद से ही लाखों की संख्या में प्रवासी मजदूर दिल्ली (Delhi), मुंबई (Mumbai), पुणे (Pune) आदि से जैसे बड़े-बड़े शहरों में फंस गए थे। लोगों के काम-धंधे ठप पड़ गए खाने तक को दाना नहीं था, ना ही गांव वापस जाने के लिए कोई सुविधा थी।

इस समय हज़ारों की संख्या में प्रवासी मजदूरों (Migrant Labour News) ने पैदल ही अपने गांव का रास्ता नाम लिया तो वहीं कुछ लोग ट्रक आदि का सहारा लेकर पहुंचे।

सरकार ने चलाई ट्रेन (Shramik Special Train By Goverment)

जब मजदूर लोग पैदल घर जाने लगे तबसे ही हादसों की घबरों ने जोड़ पकड़ लिया। आय दिन सड़क दुर्घटना और ट्रेन दुर्घटना जैसी खबरें आने लगीं जिसमें कई मजदूरों की जान जाने जैसे दिल दहला देने वाली खबरें सुनने को मिलने लगी। ऐसे में सरकार ने इस घटना को रोकने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Train List) की व्यवस्था की, जिसके सहारे प्रवासी मजदूर अपने गांव लौटने लगे।

लेकिन जब श्रमिक ट्रेनें (Shramik Special Train Fare) चालू हो गई तो सरकार के द्वारा ये ऐलान किया गया था कि मजदूरों से किराया नहीं लिया जाएगा। लेकिन कई मजदूरों की शिकायत थी कि उनसे किराया लिया गया। जिन मजदूरों से किराया वसूला गया वो लोग गुजरात (Gujrat), मुंबई (Mumbai), दिल्ली (Delhi) आदि से लौटे थे।

आगे की खबर के लिए बने रहे The Toss News के साथ

ये भी पढ़े :

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।