कृषि कानून विरोध: तीन दिवसीय पंजाब दौरे पर राहुल गांधी, कृषि कानूनों के विरोध में विशाल ट्रैक्टर रैलियों की आज से शुरुआत

कृषि कानून विरोध: तीन दिवसीय पंजाब दौरे पर राहुल गांधी, कृषि कानूनों के विरोध में विशाल ट्रैक्टर रैलियों की आज से शुरुआत
▶️कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का आज से पंजाब दौरा शुरू, 4 से 6 अक्टूबर तक पंजाब में रहेंगे
▶️राहुल गांधी के पंजाब दौरे का मुख्य उद्देश्य किसानों के साथ मिलकर कृषि कानूनों का विरोध करना, कई रैलियां और जनसभाओं को करेंगे संबोधित
▶️मोगा से शुरू होने जा रही रैली हरियाणा होते हुए दिल्ली में जाकर होगी समाप्त, सुरक्षा के मद्देनजर 10 हजार पुलिस जवानों की तैनाती

मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि से जुड़े कानूनों का सड़क से लेकर संसद तक विरोध किया गया। खासकर पंजाब और हरियाणा के किसानों द्वारा भारी विरोध-प्रदर्शन और 25 सितंबर को तो ‘भारत बंद’ तक का ऐलान किया गया था। हालांकि कृषि कानूनों में राष्ट्रपति तक की मुहर लग चुकी है। इस बीच आज यानी रविवार से कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पंजाब में 3 दिनों तक इन कानूनों का पंजाब के किसानों के साथ मिलकर विरोध करेंगे।

पंजाब में राहुल गांधी का ‘खेत बचाओ’ अभियान

कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज से तीन दिवसीय पंजाब दौरे पर हैं। हाथरस रेप पीड़िता के परिवार से मिलने के कारण यह दौरा एक दिन देरी से शुरू हो रहा है। राहुल गांधी के इस दौरे का मुख्य उद्देश्य केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब किसानों के साथ मिलकर विरोध करना हैं। इस दौरान राहुल गांधी लगातार ट्रैक्टर रेलियां करेंगे, खुद ट्रैक्टर भी चलाएंगे।

राहुल गांधी के इस अभियान में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, पार्टी के वरिष्ठ नेता, पंजाब के सांसद और विधायक, पंजाब राज्य के प्रभारी महासचिव हरीश रावत, राज्य पार्टी अध्यक्ष और कई बड़े कांग्रेसी नेताओं के शामिल होने की उम्मीद हैं।

कुछ इस तरह रहेगा, राहुल गांधी का तीन दिवसीय दौरा

राहुल गांधी 4 से 6 अक्टूबर के बीच सुबह 11 बजे से अपनी रैलियों की शुरुआत करेंगे। राहुल गांधी अपनी ट्रैक्टर रैलियों में करीब 50 किलोमीटर की दूरी तय करेंगे। राहुल गांधी का कार्यक्रम कुछ इस तरह रहेगा।

4 अक्टूबर- रविवार सुबह 11 बजे राहुल गांधी बधनीकलां में जनसभा को संबोधित करते हुए, हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत भी करेंगे। जिसके बाद राहुल गांधी कलान से जटपुरा तक ट्रैक्टर रैली का नेतृत्व करेंगे। लुधियाना के जटपुरा में राहुल गांधी का सार्वजनिक बैठक समारोह भी होगा।

5 अक्टूबर- सोमवार को भी राहुल गांधी बरनाल चौक और संगरूर में ट्रैक्टर रैली का नेतृत्व करेंगे। जिसके बाद राहुल गांधी कार से भवानीगढ़ की जनसभा में पहुंचेंगे। फिर पटियाला के समाना की अनाज मंडी में जनसभा को संबोधित करेंगे।

6 अक्टूबर- मंगलवार के दिन राहुल गांधी पहले पटियाला के दूधन साधा में किसानों की विशाल रैली को संबोधित करेंगे। तीन दिवसीय दौर के आखिरी चरण में राहुल गांधी की ट्रैक्टर यात्रा पिहोवा सीमा होते हुए हरियाणा में प्रवेश करेंगी।

कृषि कानूनों के बाद पंजाब की सियासत में आई है गर्मी

केंद्र सरकार द्वारा कृषि कानूनों को लाने के बाद पंजाब की राजनीति में अलग ही तरीके के बदलाव देखने को मिल रहे हैं। कांग्रेस हमेशा ही पंजाब में किसानों के बलबूते पर चुनाव जीतती रही है। जाहिर सी बात है पंजाब के किसानों को कांग्रेस का समर्थन मिलना ही था। लेकिन इस मामले में पंजाब की शिरोमणि अकाली दल भी पीछे नहीं रहा। केंद्र सरकार में अकाली दल की मंत्री हरसिमरत कौर ने इस्तीफा दे दिया और पार्टी एनडीए के गठबंधन से भी बाहर हो गई।

इस बीच राहुल गांधी का पंजाब दौरा कई मायनों में अहम है। तीन दिवसीय दौरे में राहुल गांधी किसानों के साथ खड़े होकर साबित करेंगे कि उनकी पार्टी किसानों के साथ खड़ी हैं। पंजाब में बिना किसानों के समर्थन से चुनाव जीतना संभव नहीं है। यह बात राहुल गांधी और अन्य पार्टी भली-भांति जानते हैं।

thetossnews

thetossnews