खुशखबरी: मोदी का ग्रामीणों को तोहफा, 1 लाख लोगों को आज मिलेगा प्रॉपर्टी कार्ड

खुशखबरी: मोदी का ग्रामीणों को तोहफा, 1 लाख लोगों को आज मिलेगा प्रॉपर्टी कार्ड
▶️ प्रधानमंत्री मोदी आज 11 बजे करेंगे स्वामित्व योजना की पहले चरण की शुरुआत
▶️ 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायती दिवस पर योजना लाने की घोषणा की गई थी
▶️ मोदी बोले- योजना करोड़ों भारतीयों के लिए मील का पत्थर साबित होगी

PM Modi Swamitva Yojana: अक्सर गांवों में जमीन की सीमा को लेकर विवाद होते रहते हैं। सरकार द्वारा एक ऐसी योजना लाई जा रही है। जिससे गांव में जमीनी झगड़ों को कम करने में मदद मिलेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) द्वारा लॉकडाउन के दौरान स्वामित्व योजना लाने की घोषणा की गई थी। इसी योजना की आज प्रधानमंत्री मोदी द्वारा शुरुआत की जाएगी।

आज से स्वामित्व योजना की शुरुआत

प्रधानमंत्री मोदी आज यानि रविवार को 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्वामित्व योजना (Swamitva Yojana) की शुरुआत करेंगे। पीएम मोदी जमीन के मालिकाना हक का कागज देकर योजना के पहले चरण की शुरुआत करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को ट्वीट करके कहा

कि ग्रामीण भारतीयों (Rular Indians) के जीवन में एक सकारात्मक बदलाव आने वाला है। कल स्वामित्व योजना के तहत प्रॉपर्टी कार्ड के वितरण (Property Card Distribution Through Swamitva Scheme) का शुभारंभ किया जाएगा। यह योजना करोड़ों भारतीयों के लिए मील का पत्थर साबित होगी।

जानें, क्या है स्वामित्व योजना

केंद्र सरकार की पंचायती राज मंत्रालय के द्वारा स्वामित्व योजना (What Is Swamitva Yojna?) चलाई जा रही है। हालांकि इसकी घोषणा पहले ही 24 अप्रैल 2020 को प्रधानमंत्री द्वारा कर दी गई थी। योजना को लाने का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को ‘रिकॉर्ड ऑफ राइट्स (Record Of Rights )’ देने के लिए संपत्ति कार्ड का विवरण किया जाना है। सरकार द्वारा लक्ष्य बनाया गया है कि 4 सालों के अंतर्गत इस योजना से देश के करीब 6.62 लाख गांवों को कवर किया जाएगा।

जानकारी के लिए बता दें कि गांव के जमीनों का रिकॉर्ड खसरा-खतौनी में होता है। आवासीय संपत्ति का मालिकाना हक के आधार पर कोई रिकॉर्ड नहीं होता है। स्वामित्व योजना के बाद मालिकाना हक सुनिश्चित हो जाएगा।

PM Modi Swamitva Yojana

स्वामित्व योजना के फायदे

स्वामित्व योजना आने के बाद सबसे बड़ा फायदा (Benefits Of Swamitva Yojana) ग्रामीण लोगों को यह होगा कि उनको संपत्ति का रिकॉर्ड्स ऑफ राइट्स मिल जाएगा। इन रिकॉर्ड्स के जरिए ग्रामीण लोग अपनी संपत्ति का वित्तीय रूप में इस्तेमाल कर पाएंगे। सरकार द्वारा ड्रोन सर्वे तकनीकी सहायता से गांव का सीमांकन किया जाएगा। ग्रामीणों को अपनी जमीन के सटीक आंकड़े उपलब्ध हो पाएंगे। जमीन से जुड़े कानूनी झगड़ो में कमी आएगी। गांव के लोग अपने जमीनी कागज एसएमएस लिंक के जरिए प्राप्त कर पाएंगे।

प्रधानमंत्री मोदी आज योजना के शुभारंभ के साथ प्रथम चरण में 6 राज्यों के 763 गांव को इससे लाभान्वित करेंगे। 763 गांव में उत्तरप्रदेश (UP) के 346 गांव, हरियाणा (Haryana) 221, महाराष्ट्र (Maharashtra) 100, मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) 44, उत्तराखंड (Uttarakhand) 50 और कर्नाटक (Karnataka) के 2 हैं।

आगे पढ़ें-

Manoj Thayat

Manoj Thayat

पत्रकारिता मनोज का जुनून है। इसी जुनून को जीने के लिए और अपने तरीके से ख़बरों को आप तक पहुँचाने के लिए मनोज The Toss News के साथ जुड़े हैं। मनोज को पढ़ने, लिखने और संवाद करने का बेहद शौक है। देश-दुनिया की ख़बरों को आप तक समय-समय पर पहुँचाना मनोज का लक्ष्य है। आप सभी रोज़ाना मनोज द्वारा लिखी गईं ख़बरें पढ़ सकते हैं और Comment में अपना Feedback भी दे सकते हैं।