बढ़ते प्रदूषण को कोरने के लिए NGT ने दिया बड़ा आदेश, दिल्ली सहित इन इलाकों में पटाखों पर पूरी तरह लगा बैन

बढ़ते प्रदूषण को कोरने के लिए NGT ने दिया बड़ा आदेश, दिल्ली सहित इन इलाकों में पटाखों पर पूरी तरह लगा बैन
▶️बढ़ते प्रदूषण के खतरों को देखते हुए एनजीटी ने लिया बड़ा फैसला, आज रात से लागू होंगे नए नियम
▶️आज रात से 30 नवंबर की रात तक दिल्ली एनसीआर सहित कई शहरों और कस्बों में पटाखों की बिक्री पर लगी पूरी तरह पाबंदी
▶️एनजीटी ने कहा कि उन शहरों और कस्बों में ग्रीन पटाखे जलाए जा सकते हैं जहां हवा की क्वालिटी मोडरेट है

Diwali 2020 Delhi: हर साल दिवाली से पहले देशभर में हवा की गुणवत्ता (Air Quality Index Delhi) पूरी तरह से खराब हो जाती है। आलम तो ये होता है कि बाहर निकलर सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है। और एक बार फिर ऐसा ही कुछ हुआ है। इस साल भी दिल्ली एनसीआर (Pollution In Delhi NCR) सहित आसपास के कई इलाके प्रदूषण से ग्रसित हैं, दिन में भी अंधेरा सा लगता है, लोग बच्चों को बाहर भेजने से कतराने लगे हैं। इन्ही परिस्थितियों को देखते हुए एनजीटी (National Green Tribunal) ने आज एक बड़ा आदेश दिया है।

प्रदूषण को लेकर एनजीटी का बड़ा आदेश

बढ़ते प्रदूषण से होने वाले खतरों को भांपते हुए एनजीटी (NGT) ने एक बड़ा आदेश दिया है, इस आदेश के तहत आज रात से 30 नवंबर की रात तक दिल्ली एनसीआर के साथ-साथ उन शहरों और कस्बों में पटाखों की बिक्री (Firecrakers Banned In Delhi NCR Till 30th November) और इस्तेमाल पर पूरी तरह पाबंदी रहेगी जहां पिछले साल इसी महीने में प्रदूषण की मात्रा अधिक दर्ज हुई थी।

मोडरेट इलाकों में जलेंगे ग्रीन पटाखे

एनजीटी ने आगे कहा कि उन शहरों और कस्बों में ग्रीन पटाखे जलाए जा सकते हैं जहां हवा की क्वालिटी मोडरेट है। लेकिन इन इलाकों में भी केवल 2 घंटे ग्रीन पटाखे (Green Firecackes Allowed In Moderate Area) जलाए जाएंगे वो भी दीवाली छठ पूजा (Chhath Puja 2020), क्रिमसस जैसे त्यौहारों पर।

NGT Banned Firecrackers In delhi

अन्य राज्यों से कोई खबर नहीं

बता दें कि दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने राजधानी दिल्ली में ग्रीन पटाखे जलाने पर भी प्रतिबंध लगा दिया था, इसके पीछे कारण प्रदूषण का बिगड़ता स्तर है साथ ही खबर ये भी आई थी की यदि हवा की गुणवत्ता खराब होती है तो इससे कोरोना (Corona) की बाढ़ आ सकती है। इसके अलावा अन्य राज्यों की बात करें तो वहां से पटाखों पर प्रतिंबध को लेकर कोई खबर सुनने को नहीं मिली है।

क्या कहा पर्यावरण मंत्रालय ने?

इस बारे में पर्यावरण मंत्रालय (Ministry of Environment) का कहना है कि हमारे पास ऐसी कोई स्टडी नहीं है जिससे ये क्लियर हो की पटाखों का इस्तेमाल करने से कोरोना वायरस (Corona Virus) का खतरा बढ़ेगा।

आगे पढ़ें-

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *