रिया चक्रवर्ती ने कहा NCB ने ज़बरदस्ती कबुलवाया है ज़ुर्म, पूछताछ के दौरान महिला अधिकारी के मौजूद नहीं होने का भी किया विरोध

रिया चक्रवर्ती ने कहा NCB ने ज़बरदस्ती कबुलवाया है ज़ुर्म, पूछताछ के दौरान महिला अधिकारी के मौजूद नहीं होने का भी किया विरोध
▶️रिया चक्रवर्ती को 8 सितम्बर को NCB ने किया था गिरफ्तार, एक्ट्रेस ने बेल के लिए दर्ज की थी याचिका
▶️स्पेशल कोर्ट में दर्ज की गई याचिका में लिखी है NCB के ज़बरदस्ती रिया चक्रवर्ती से क्राइम कबूल करवाने की बात
▶️याचिका में पूछताछ के दौरान महिला अधिकारी के ना मौजूद होने की भी लिखी है बात

Rhea Chakraborty Latest News : 8 सितम्बर को रिया चक्रवर्ती गिरफ्तार हो गईं थीं, जिसके बाद उन्होंने बेल के लिए स्पेशल कोर्ट में अर्ज़ी दी थी। बेल के लिए दर्ज की गई याचिका में रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानेशिंदे ने अपनी क्लाइंट के सपोर्ट में कहा कि NCB के अधिकारियों ने रिया से ज़बरदस्ती ड्रग कनेक्शन में शामिल होने का बयान कबुलवाया है।

ज़बरदस्ती कबूल करवाया गया है ज़ुर्म

रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानेशिंदे (Satish Maneshinde) ने जो याचिका दर्ज की है एक्ट्रेस का मानना है कि उन्होंने किसी भी तरह का जुर्म नहीं किया है। याचिका में आगे लिखा है कि रिया ने कोई भी क्राइम नहीं किया है और उन्हें इस केस में गलत तरीके से फंसाया गया है। याचिका में इस बात का भी ज़िक्र है कि रिया से ज़बरदस्ती बयान कबूलवाया गया है और उन्हें इतना फ़ोर्स किया गया है कि उन्होंने दबाव में आकर ड्रग (Rhea Drug Allegations) सम्बंधित लगे आरोपों को स्वीकारा है।

पूछताछ के दौरान महिला अधिकारी के मौजूद ना होने का भी है आरोप

Rhea Chakraborty claims that NCB forcefully coerced confession

NCB के ऊपर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की गाइडलाइन्स को फ़ॉलो नहीं करने का आरोप लगाते हुए बेल की एप्लीकेशन में लिखा है कि जब रिया चक्रवर्ती से पूछताछ की गई उस दौरान कोई भी फीमेल ऑफिसर मौजूद नहीं थी, जबकि सुप्रीम कोर्ट के कानून के मुताबिक ये गलत है। याचिका में लिखा है कि जब शीला बारसे बनाम महाराष्ट्र सरकार का केस सुप्रीम कोर्ट में चल रहा था तब ये कानून बनाया गया था कि किसी भी महिला से पूछताछ महिला कांस्टेबल/अधिकारी (female officer/constable) की मौजूदगी में ही होगी।

मिले हुए सबूत जेल भेजने के लिए नहीं है काफ़ी

रिया के वकील सतीश मानेशिंदे ने NCB के एक्ट्रेस के ख़िलाफ़ लगाई गई धारा 27 A पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि ड्रग कनेक्शन (Rhea Drug Connection) में जो सबूत रिया के ख़िलाफ़ मिले हैं उनसे ज़्यादा से ज़्यादा अगर केस बनता भी है तो कुछ मात्रा में ड्रग्स को खरीदने का बनता है, और ये आरोप बेल मिलने के लायक है। NCB के पास ऐसा कोई भी सबूत नहीं है जो ये साबित कर रहा हो कि रिया किसी बड़े इलिसिट ट्रैफिक (Illicit Trafficking) में शामिल हैं।

याचिका में लिखी हुई बातों से ये साफ तौर पर साबित हो रहा है कि रिया चक्रवर्ती और उनके वकील पूरी कोशिश कर रहे हैं कि कैसे वो बेल पाकर जेल से बाहर आ सकें। ऐसे में ये देखना काफ़ी दिलचस्प होगा कि रिया को क्या इसमें कामयाबी मिल पाएगी।

आगे पढ़ें:

Mahima Nigam

Mahima Nigam

महिमा एक चंचल स्वभाव कि लड़की है और रियल लाइफ में खेलकूद करने के साथ इन्हें शब्दों के साथ खेलना भी काफी पसंद है। बता दें कि इस वेबसाइट को शुरू करने का सपना भी महिमा का है और उसे मंज़िल तक पहुंचाने का भी। उम्मीद करते हैं कि आप साथ देंगे