नवरात्रि 2020: नवरात्रि के तीसरे दिन हुआ मां चंद्रघंटा का आगमन, जाने पूजा के समय घंटी बजाने का महत्व

नवरात्रि 2020: नवरात्रि के तीसरे दिन हुआ मां चंद्रघंटा का आगमन, जाने पूजा के समय घंटी बजाने का महत्व
▶️नवरात्रि के तीसरे दिन मां दुर्गा के तीसरे स्वरूप यानि मां चंद्रघंटा (Chandraghanta) की पूजा की जाती है
▶️मां चंद्रघंटा आपार शक्ति धारण किए हुए हैं जो पलभर में राक्षसों का वध कर देती हैं
▶️मां चंद्रघंटा की पूजा करते समय मंदिर की घंटी बजाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है

Navratri 2020 Third Day: आज नवरात्रि का तीसरा दिन है, और तीसरे दिन मां दुर्गा के तीसरे स्वरूप यानि मां चंद्रघंटा (Chandraghanta) की पूजा की जाती है। मां चंद्रघंटा आपार शक्ति धारण किए हुए हैं जो पलभर में राक्षसों का वध कर देती हैं। जो भी मां चंद्रघंटा की पूरे दिल से पूजा करता है माता उसके सभी दूखों को हर लेती हैं।

राक्षसों का अंत करती हैं मां चंद्रघंटा

कहते हैं माता चंद्रघंटा का जन्म संसार से दूखों को दूर करने और विश्व से राक्षसों की प्रजाति को खत्म करने के लिए हुआ था। मां चंद्रघंटा हमेशा से ही धर्म की रक्षा करती हैं। नवरात्रि के पूरे नव दिन मां दुर्गा सप्तशती का पाठ (Maa Durga Saptsati Path) करके माता की अराधना करने से भक्तों को कभी भी कष्ट नहीं आता ।

Navratri 2020 Third Day: Worship Of Maa Chandraghanta

कहते हैं मता चंद्रघंटा बेहद सौम्य व शांत स्वभाव की हैं। माता जल्दी क्रोधित नहीं होती हैं लेकिन कहते हैं जब मां को क्रोध आता है तो उन्हे शांत करवाना मुश्किल हो जाता है। मां चंद्रघंटा (Maa Chandraghanta Ki Puja) शेर की सवारी करती हैं मां के दस हाथ हैं। लेकिन माता चंद्रघंटा की पहचान उनके माथे पर बने आधे चांद से होती है। इसके अलावा माता चंद्रघंटा को स्वर की देवी भी माना जाता है।

मां चंद्रघंटा की पूजन विधि

वैसे तो नवरात्रि के 9 देवियों की पूजा पूरे विधि विधान (Worship of Mother Chandraghanta) से की जानी चाहिए लेकिन आज मां चंद्रघंटा का दिन है तो आप पूजा के समय माता को लाल रंग के फूल चढ़ाएं। इसके अलावा माता को फलों में सेब पसंद है इसलिए भोग में सेब चढ़ाएं। इसके अलावा पूजा करते समय मंदिर की घंटी बजाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा (Positive Energy) का वास होता है।

मां चंद्रघंटा को घंटी की आवाज बेहद पसंद है इसलिए पूजा के समय घंटी बजाकर मां को प्रसन्न ज़रूर करें। माता को दूध और दूध से बनी चीज़ों के भोग पसंद है इसका भी खास ध्यान रखें।

आगे पढ़ें-

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।