कृषि विधेयक बिल को लेकर सड़कों पर उतरे कोंग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू, भारी संख्या में हुए लोग शामिल

कृषि विधेयक बिल को लेकर सड़कों पर उतरे कोंग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू, भारी संख्या में हुए लोग शामिल
▶️कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू किसान बिल को लेकर अमृतसर के सड़कों पर उतर गए हैं
▶️नवजोत सिंह सिद्धू के साथ सैकड़ों की भीड़ देखने को मिली जो उनका समर्थन कर रही थी
▶️इस प्रदर्शन का मुख्य नारा था ‘क्या सरकार रोटी को आवश्यक वस्तु नहीं मानती है’?

Agriculture Reform Bill: कोरोना काल में जहां एक तरफ WHO और सरकार लोगों से घरों में रहने की अपील कर रही है और दो गज दूरी बनाए रखने के लिए प्रशासन एड़ी चोटी का दम लगा रही है वहीं कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) किसान बिल को लेकर अमृतसर (Amritsar) के सड़कों पर उतर गए हैं। यहां सिद्धू के साथ उनके समर्थक और बिल का विरोध करने वाले लोग भी मौजूद थे जहां कोरोना नियमों का जमकर उलंघन किया गया।

कृषि विधेयक बिल को लेकर सड़क पर उतरे नवजोत सिंह सिद्धू

आपको बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू ने ये मोर्चा कृषि विधेयक (Agricultue Reform Bill) को लेकर खोला है, दरअसल तमाम हंगामों और मुसीबतों के बाद तीनों कृषि विधेयकों को सरकार ने पास करा लिया। ऐसे में सिद्धू किसानों की सहानुभूति पाने के लिए सड़कों पर उतारू हो गए हैं। नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu Congress) के साथ सैकड़ों की भीड़ देखने को मिली जो उनका समर्थन कर रही थी।

Navjot Singh Siddhu Demonstrating On Streets

इस प्रदर्शन के दौरान जमकर नारेबाजी की गई और सरकार पर खुलेआम निशाना साधा गया। इस प्रदर्शन में सरकार के लिए कहा गया कि इस बिल के पास हो जाने से जमाखोरी को काफी बढ़ावा मिल जाएगा। इस प्रदर्शन का मुख्य नारा था ‘क्या सरकार रोटी को आवश्यक वस्तु नहीं मानती है’?

ट्रेक्टर पर सवार दिखे नवजोत सिंह सिद्धू

कृषि विधेयक को लेकर हो रहे इस प्रदर्शन में कई सारे ट्रेक्टर शामिल हुए जिसपर बड़ी तादाद में किसान और मजदूर वर्ग के लोग थे, वहीं सिद्धू भी ट्रैक्टर पर सवार थे। सिद्धू के समर्थन में शामिल लोगों ने सरकार और बिल के खिलाफ काला झंडा फहराया, किसान भी नारेबाज़ी कर रहे थे।

इस विधेयक को लेकर सबसे ज्यादा विरोध प्रदर्शन पंजाब (Punjab) में किए जा रहे हैं, सिद्धू के प्रदर्शन से पहले शिरोमणी अकाली दल (Siromani Akali Dal) की नेता हरसिमरत कौर बादल (Harsimrat Kaur Badal) ने भी इस विधेयक के विरुद्ध इस्तीफा दे दिया था, वो भी इस बिल के पक्ष में नहीं थी।

इस विधेयक को लेकर सरकार का कहना है कि इससे किसानों को फायदा मिलेगा और उनके अनाज का उनको उचित मूल्य मिल सकेगा, लेकिन विपक्ष का कहना है कि इस विधेयक को पास करवाकर सरकार ने किसानों को बेच दिया है और किसानों तक भी यही बात पहुंचाई जा रही है जिसके कारण भारी संख्या में किसान प्रदर्शन करने को तैयार हैं।

आगे पढ़ें :

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।