कोरोना वायरस ने फेल किए N-95 Mask, जाने किस द्वारा बनया गया है ये

कोरोना वायरस ने फेल किए N-95 Mask, जाने किस द्वारा बनया गया है ये
▶️केंद्र सरकार ने सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखी चिट्ठी, N-95 Mask ना लगाने की दी गई चेतावनी
▶️स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा एन-95 का हो रहा है गलत इस्तेमाल खासकर वो जिन मास्क में छेद हैं, पीटर त्साई हैं N-95 Mask बनाने वाले वैज्ञानिक
▶️घर का बना मास्क है ज्यादा सुरक्षित, हर पांच या 10 मिनट में गर्म पानी से धोएं मास्क, कॉटन के कपड़े का भी कर सकते हैं इस्तेमाल

कोरोना काल की शुरूआत से ही एन-95 मास्क (N-95 Mask) काफी चर्चा में आ गया था, देश औऱ दुनिया के हरेक व्यक्ति को यही लगता था कि ये जो एन-95 मास्क है वो पूरी तर सेफ औऱ संपूर्ण है। लेकिन आप झांसे में हैं। अगर आपको लगता है कि आप एन-95 जैसे मास्क को लगाकर कोरोना से बच सकते हैं तो ऐसा बिल्कुल नहीं है। इस बारे में केंद्र सरकार ने सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को चिट्ठी लिखी है। जिसमें एन-95 मास्क ना लगाने की चेतावनी दी गई है।

क्या है N-95 Mask?

जब से कोरोना काल की शुरूआत हुई तबसे ही एन-95 मास्क (N-95 Mask For Corona) को कोरोना से बचने के लिए बेहतर उपाय माना जाने लगा था। क्योंकि एन-95 एक थ्री प्लाई जैसा मास्क है जो डिस्पोजेबल (N-95 Disposal Mask) है। ये मास्क काफी महंगा आता है जिसे एक बार के बाद इस्तेमाल करना सुरक्षित नहीं है।

N-95 Mask नहीं है सुरक्षित- स्वास्थ्य मंत्रालय

बता दें कि जिस मास्क को आप सबसे ज्यादा सुरक्षित समझते थे वो मास्क अब फेल हो गया है। जी हां…स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry News) के महानिदेशक ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को चिठी लिखी है। जिसमें कहा गया है कि स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा एन-95 (N-95 Mask) का गलत इस्तेमाल हो रहा है, खासकर वो जिन मास्क में छेद हैं।

घर का मास्क ज्यादा सेफ

स्वास्थ्य सेवाओं का कहना है कि एऩ-95 मास्क (N-95 Mask News) की जगह घर पर बना मास्क ज्यादा सुरक्षित पाया गया है। क्योंकि छिद्रयुक्त एन-95 मास्क बेहद हानिकारक है। ये मास्क कोरोना से नहीं बचा रहे हैं बल्कि इससे कोरोना फैलने का खतरा बढ़ रहा है क्योंकि छिद्रों से सांस बाहर आती है जो लोगों को संक्रमित कर रही है। यही कारण है कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि एन-95 मास्क (N-95 Mask cost) का इस्तेमाल करने की बजाय घर का बना मास्क ही इस्तेमाल में लाएं।

क्यों खतरनाक है N-95 Mask

गौरतलब है कि संक्रमण से बचाने के लिए तैयार किए गए इस एन-95 मास्क (N-95 Mask Cost) से दूसरों में वायरस फैलने का खतरा है। क्योंकि इस मास्क में लगे वॉल्व से संक्रमण बाहर आसानी से फैल सकता है। इस मास्क में लगे वॉल्व से लोग आसानी से सांस ले पाते हैं लेकिन इस वॉल्व से दोबारा वायरस फैल सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस मास्क को पहन कर जब सांस छोड़ी जाती है तो कीटाणु बाहर निकलते हैं। ये मास्क स्वास्थकर्मियों (Mask not Secure For Healthworkers) के लिए भी सुरक्षित नहीं है।

N-95 Mask

बहुत मंहगा है N-95 Mask

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministery News) की माने तो इस मास्क को पहनना डॉक्टर, नर्स, सफाईकर्मी आदी के लिए भी सुरक्षित नहीं है। क्योंकि इस मास्क को ज्यादा समय तक लगाकर रखने से इसमें नमी आने लगती है जिससे वायरस (Corona Virus Update) दोबारा पनप सकता है। इसे समय-समय पर बदलना होता है। ये मास्क बेहद महंगा भी है। और छिद्रों के कारण अब इसकी सेफ्टी पर सवाल उठने लगे हैं।

इस वैज्ञानिक ने बनाई है N-95 Mask

क्या आपने कभी ये सोचा है कि दुनिया भर में जिस एन-95 मास्क (N-95 Mask) का इस्तेमाल किया जा रहा है वो किसने बनाया है? अगर नहीं तो हम बताते हैं…दरअसल पूरी दुनिया को इन-95 मास्क (N-95 Mask Cost) का तोहफा वाले वैज्ञानिक का नाम पीटर त्साई (Peter Tsai) है। 1992 में पीटर ने इस मास्क को बनाया था। जिसे अब पूरी दुनिया इस्तेमाल कर रही है।

घर का मास्क क्यों है सुरक्षित?

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministery) का कहना है कि घर का बना मास्क (Homemade Mask) ज्यादा सूरक्षित है। ऐसे में ये बात दिमाग में आती है कि इतना महंगा मास्क जो सभी सावधानियों से लैस है उसे छोड़कर घर में साधारण कपड़े से बना मास्क सुरक्षित क्यों है… तो ऐसा इसलिए क्योंकि घर का मास्क हम हर घंटे धोकर सैनिटाइज (HomeMade Mask can Sanatized) करके पहन सकते हैं। लेकिन एन-95 मास्क डिसपोजल (N-95 Disposal Mask) है।

स्वास्थ्य मंत्रालय की एडवाइजरी (Advisory Health Ministery) में कहा गया था कि घर से बाहर निकलते समय कॉटन का कपड़ा भी मुंह पर बांध सकते हैं। साथ ही मास्क या कपड़ा ऐसा होना चाहिए जो हर पांच या 10 मिनट बाद धोकर जल्द सुखाया जा सके।

ऐसे करें घर में बने मास्क का इस्तेमाल

कोरोना संक्रमण में एन-95 मास्क (N-95 Mask News) भी फेल हो गया है ऐसे में आपको अपने द्वारा बनाए गए मास्क का ही इस्तेमाल करना है। इसके लिए आप मास्क को इस्तेमाल करने के बाद उसे गर्म पानी में धोएं। अपना मास्क किसी और को इस्तेमाल करने के लिए ना दें। घर में अगर चार सदस्य हैं तो चारो अपना अलग मास्क तैयार करें और अलग ही धोएं।

मंत्रालय द्वारा (Health Ministery News) ये चेतावनी दी जा चुकी है कि स्वास्थ कर्मियों की जगह लोग एन-95 मास्क (N-95 Mask) का पूरी तरह से अनुचित इस्तेमाल कर रहे हैं। खासकर वो मास्क आपके लिए और सामने वाले के लिए हानिकारक है जिसमें छिद्र हैं। उसके लिए आप स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दी गई सभी गाइडलाइंस (Guidelines Of Health Ministery) का पालन करें। घरों में रहे हैं और घर में बने मास्क का इस्तेमाल करें।

आगे की खबर के लिए बने रहे The Toss News के साथ

ये भी पढ़े :

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।