अर्नब की गिरफ्तारी के लिए महाराष्ट्र सरकार बना रही थी प्लान, किसी को नहीं हुई कानोकान खबर

अर्नब की गिरफ्तारी के लिए महाराष्ट्र सरकार बना रही थी प्लान, किसी को नहीं हुई कानोकान खबर
▶️महाराष्ट्र पुलिस ने अर्नब को गिरफ्तार करने के लिए गुप्त व्यूह रचा था जिसमें गृह मंत्री अनिल देशमुख भी शामिल थे
▶️जनता का कहना है कि शिवसेना ने अर्नब से बदला लेने के लिए ये रणनीति बनाई है
▶️गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कोंकण रेंज के आईजी संजय मोहित के नेतृत्व में केस की जांच के लिए एक टीम का गठन किया है

Arnab Goswami Arrest: हाल ही में रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami Cheif Republic Tv) को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया है। कोर्ट में हुए हाईवोल्टेज ड्रामें के बाद अर्नब को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। जिस केस के तहत अर्नब को गिरफ्तार (Arnab Goswami Arrest) किया गया है वो करीब दो साल पुराना मामला है जिसके तहत अब अर्नब को घेरा जा रहा है।

शिवसेना का चकर्व्यूह

जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) ने अर्नब को गिरफ्तार करने के लिए गुप्त व्यूह रचा था इस प्रोसेस में गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh Home Minister Maharashtra) भी शामिल थे, जिसके बाद सरकार की रणनीति के तहत अर्नब गोस्वामी को घेरा गया। इस जानकारी के माध्याम से हम अर्नब को सही औऱ मुंबई पुलिस को गलत नहीं ठहरा रहे हैं बल्कि इस बात को पूरी जनता उठा रहा ही है कि शिवसेना (Shivsena) ने अर्नब से बदला लेने के लिए ये रणनीति बनाई है।

अर्नब गोस्वामी का सरकार पर प्रहार पड़ा भारी

दरअसल अर्नब हमेशा अपने चैनल पर कांग्रेस, शिवसेना व राकांपा पर निशाना साधते हैं और उनके कामों को उजागर करते हैं ऐसे में इस तरह की पत्रकारिता का हिसाब चुकाने के लिए और बदले की आग में महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Goverment) ने पहले इस केस के बारे में स्टडी किया उसके बाद इसा मामले को रिओपन करने का आदेश दिया गया।

Arnab Goswami Arrest Plan Of Maharashtra Goverment

केस को देखने के लिए बनाई गई टीम

मिली जानकारी के अनुसार इस सुसाइड केस (Anvay Naik Suicide Case Reopen) को रिओपन करने के बाद गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कोंकण रेंज के आईजी संजय मोहित के नेतृत्व में केस की जांच के लिए एक टीम का गठन किया है, इस टीम में 40 अफसर और जवान शामिल हैं जो केस की जांच में सहयोग करेंगे।

अर्नब को भी नहीं हुई कानोकान खबर

दरअसल महाराष्ट्र पुलिस ने इस केस में अर्नब को गिरफ्तार करने औऱ जांच को आगे बढ़ाने के लिए जो प्लान बनाया वो खबर किसी भी तरह से बाहर लीक नहीं हुई। गोपनीयता से बनाई गई इस रणनीति में अर्नब (Arnab Goswami In Judicial Custody) बुरी तरह से फंस गए।

तमाम लोग इसके लिए महाराष्ट्र सरकार और पुलिस को जिम्मदेर ठहरा रहे हैं क्योंकि वो अर्नब से बदला लेना चाहते थे और ऐसे में अचानक से दो साल पुराना केस उठकर सामने खड़ा हो जाता है जिसमें अर्नब फंस जाते हैं।

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *