सुशांत डेथ केस में 2 महीने बाद हो रही है चाभी बनाने वाले से पूछताछ, शव को सबसे पहले देखने वालों में शामिल था ये शख्स

सुशांत डेथ केस में 2 महीने बाद हो रही है चाभी बनाने वाले से पूछताछ, शव को सबसे पहले देखने वालों में शामिल था ये शख्स
,▶️सुशांत की मौत के 2 महीने बाद अब होगी चाबी वाले से पूछताछ, इलेक्ट्रॉनिक चीजों की भी होगी जांच
▶️ सीबीआई के आने के बाद आई है मामले में तेजी, मुंबई पुलिस कर रही है लगातार विरोध
▶️सीबीआई कर रही है इलेक्ट्रॉनिक सबूतों की जांच पड़ताल खुल सकते हैं कई बड़े राज

सुशांत सिंह राजपूत की मौत को करीब 2 महीने का समय बीत चुका है जिसमें अब सीबीआई की एंट्री हो गई है और यह जांच तेज़ हो गई है। अब कारणों का पता लगाने के लिए सीबीआई गहराई और बारीकी से पूरे केस की दोबारा से छानबीन कर रही है।

इसी क्रम में आगे बढ़ते हुए अब सीबीआई इलेक्ट्रॉनिक सबूतों को भी जांच रही है। और 2 महीनों बाद अब चाबी बनाने वाले से भी पूछताछ हो रही है जिसने शव को पहले देखा था। जिससे ये उम्मीद लगाई जा रही है कि इसके बाद इस मामले में कई बड़े राज खुल सकते हैं।

CBI जॉंच से कैसे पकड़े जाएंगे सुशांत के हत्यारे जानने के लिए देखिये ये वीडियो

क्या हो सकते हैं इलेक्ट्रॉनिक सबूत

इलेक्ट्रॉनिक सबूतों में अपार्टमेंट कमरे की सीसीटीवी फुटेज, घटनास्थल की फोटोज़, सुशांत के घर में उपस्थित फोटोज़, पोस्टमार्टम रिपोर्ट, एफएसएल रिपोर्ट की मदद से केस की गुत्थी को सुलझाने का प्रयास किया जाता है और यह भी जाने की कोशीश की जाती है कि वो क्या चीज थी जिससे दरवाजे को खोलने की कोशिश की गई।

इसके साथ यह भी देखा जा रहा है कि सुशांत को सबसे पहले फंदे पर लटकते हुए किस किसने देखा, शव को सबसे पहले नीचे किसने उतारा, इन सभी सवालों के जवाब इस केस को बहुत हद तक सुलझाने में मदद करेंगे।

पोस्टमार्टम की भी हो रही है दोबारा जांच

CBI starts the probe for Sushant SIngh Rajput death case

सीबीआई टीम अब सुशांत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट को गहराई से जांच रही है। इससे पहले पटना पुलिस भी इसमें छानबीन कर चुकी है लेकिन कपूर अस्पताल से पुलिस के कहने पर पटना पुलिस को कुछ भी बताने से इंकार कर दिया गया था जिसके बाद यह मामला बीच में ही रुक गया। इसी के साथ सीबीआई उनकी पूर्व मैनेजर रही दिशा सलियान की आत्महत्या के मामले को भी बारीकी से देख रही है, इन दोनों में लिंक मिलने पर हो सकता है कि यह मामला जो ठंडे बस्ते में जा चुका है इसके फिर से जांच शुरू हो जाए।

आगे पढ़ें

thetossnews

thetossnews