फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद के कार्टून को क्लास में बच्चों को दिखाने पर शिक्षक का सर काटा, “अल्लाहू अकबर” के लगे नारे

फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद के कार्टून को क्लास में बच्चों को दिखाने पर शिक्षक का सर काटा, “अल्लाहू अकबर” के लगे नारे
▶️ फ्रांस की राजधानी पेरिस में अज्ञात हमलावर ने टीचर का सिर कलम कर दिया
▶️ पुलिस ने हमलावर को मार गिराया, चार अन्य को किया गिरफ्तार
▶️ फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा- आतंकवाद की कभी जीत नहीं हो सकती

#parisbeheading Trending On Twitter: 21वीं सदी में विश्व के सामने आतंकवाद सबसे बड़ी चुनौती के रूप में खड़ा है। पूरा विश्व आतंकवाद से जूझता नजर आ रहा है। भारत देश भी आतंकवाद से बहुत ज्यादा प्रभावित देश है। भारत में हर दूसरे दिन आतंकवाद से जुड़ी खबर सामने आती रहती है। खबर फ्रांस की राजधानी पेरिस (Paris, France) से जुड़ी हुई है। जहां एक शिक्षक का चाकू से सिर काट दिया जाता है।

क्या है पूरा मामला?

#parisbeheading Teacher Execution in Paris

पूरा मामला फ्रांस की राजधानी पेरिस (#prayforparis) से जुड़ा हुआ है। दरअसल राजधानी पेरिस के पूर्वी-पश्चिमी इलाके में कॉन्फ्लैन्स सौं होनोरी (Conflance Sou Honori) नाम का एक स्कूल है। जिस शिक्षक का सर काटा गया है। वह इसी स्कूल में इतिहास और भूगोल विषय का अध्यापक था। शिक्षक द्वारा कक्षा में अभिव्यक्ति की आजादी विषय पर चर्चा करते हुए, फ्रांस की पत्रिका शार्ली एब्दो में प्रकाशित पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाया गया। इसी कार्टून को दिखाने के कारण स्कूल से कुछ ही दूरी पर शुक्रवार शाम 5 बजे शिक्षक (Teacher Execution Paris News) की चाकू से गला काट कर हत्या कर दी जाती है।

मारा गया आरोपी, चार गिरफ्तार

#parisbeheading Teacher Execution in Paris

हमलावर शिक्षक का गला काटने के बाद आरोपी मौके पर फरार होने में कामयाब रहा लेकिन स्थानीय लोगों द्वारा तुरंत पुलिस को मामले की जानकारी दी गई। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी का पीछा किया और उसे सरेंडर करने के लिए कहा गया। आरोपी सरेंडर करने के बजाय पुलिसवालों को मारने की धमकी देने लगा। जिसके बाद पुलिस की फायरिंग में आरोपी को गोली लग जाती है और कुछ ही समय में मौत भी हो जाती है। पुलिस द्वारा मामले से जुड़े अन्य 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। घटनास्थल को पुलिस द्वारा सील किया गया है। पुलिस ने लोगों से अपील की है कि वे घटनास्थल पर ना पहुंचे।

फ्रांस के राष्ट्रपति और शिक्षा मंत्री का बयान आया सामने

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों (Emmanuel Macron) ने शिक्षक पर हुए हमले को ‘इस्लामिस्ट टेररिस्ट अटैक (Islamic Terrorist Attack)’ कह दिया है। राष्ट्रपति के कहा कि शिक्षक अभिव्यक्ति की आजादी का समर्थन करते थे। जिस कारण वे इस्लामिक आतंकवाद के शिकार हुए। राष्ट्रपति ने फ्रांस की जनता को आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होने के लिए अपील की और कहा कि आतंकवाद की कभी जीत नहीं हो सकती है।

वहीं फ्रांस के शिक्षा मंत्री ज्यां माइकल ब्लैंकर ट्वीट (Jean Michel Blanquer Tweet) करते हुए कहा कि शिक्षक का इस तरह से मारा जाना सीधे-सीधे फ्रांस के ऊपर आतंकवाद का हमला है। उन्होंने यह भी कहा कि इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होकर ही लड़ा जा सकता है। फ्रांस की संसद में भी शिक्षक को श्रद्धांजलि दी गई। फ्रांस की संसद ने हमले को ‘बर्बर आतंकी हमला’ बताया है।

आगे पढ़ें-

Manoj Thayat

Manoj Thayat

पत्रकारिता मनोज का जुनून है। इसी जुनून को जीने के लिए और अपने तरीके से ख़बरों को आप तक पहुँचाने के लिए मनोज The Toss News के साथ जुड़े हैं। मनोज को पढ़ने, लिखने और संवाद करने का बेहद शौक है। देश-दुनिया की ख़बरों को आप तक समय-समय पर पहुँचाना मनोज का लक्ष्य है। आप सभी रोज़ाना मनोज द्वारा लिखी गईं ख़बरें पढ़ सकते हैं और Comment में अपना Feedback भी दे सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *