भारतीय करदाताओं को राहत पहुंचाने के लिए पीएम मोदी ने किए टैक्स सिस्टम में कई बड़े बदलाव, जाने नए नियम

भारतीय करदाताओं को राहत पहुंचाने के लिए पीएम मोदी ने किए टैक्स सिस्टम में कई बड़े बदलाव, जाने नए नियम
▶️ गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी ने किए भारतीय कर व्यवस्था में कई बड़े बदलाव, नए प्लेटफार्म से होगा करदाताओं की समस्याओं का समाधान
▶️ एंबेडेड सिस्टम से करदाताओं के ऑफिसों में चक्कर होंगे कम, और परेशानियां भी घटेगी
▶️दिया गया ऑनलाइन प्रोसेस को बढ़ावा, सरकार के हस्तक्षेप को किया गया है कम

New Tax System: भारतीय टैक्स व्यवस्था की शुरुआत करते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में नए टैक्स सिस्टम लागू किया है। जिसके लिए गुरुवार को पीएम मोदी ने नए प्लेटफॉर्म की शुरुआत की, जिसका उद्देश्य भारतीय करदाताओं को प्रोत्साहन और कर देने के दौरान होने वाली धांधली को हटाकर उस में पारदर्शिता लाना है। यह पीएम मोदी के अनुसार 21वी सदी का नया प्लेटफार्म वाला टैक्स सिस्टम है, जिसमें सरकारी हस्तक्षेप बेहद कम होगा और टैक्सपेयर्स को काफी राहत मिलेगी 

पीएम मोदी ने दिए आयकरदाताओं को बड़े अधिकार

गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता को संबोधित करते हुए आयकर दाताओं के लिए किए गए बड़े बदलावों के बारे में बताया जिससे उन्हें नए अधिकार मिलेंगे। प्लेटफार्म में करदाताओं को फेसलेस असेसमेंट, फेसलेस अपील और तक पेअर्ड चार्टर की सुविधा मिलेगी। जिससे टैक्स देना और भी आसान हो जाएगा। 

New Tax system 2020

भारत सरकार ने जताया है अपने करदाताओं पर पूरा भरोसा 

हम सब जानते हैं एक सच्चा कर दाता ही देश का असली नागरिक होता है क्योंकि वो अपनी जिम्मेदारी समझते हुए अपने कर का भुगतान समय पर करता है। क्योंकि लोगों द्वारा घर के ऊपर से ही देश चलता है, इसीलिए सरकार ने करदाताओं पर अधिक भरोसा जताते हुए इस प्रक्रिया में सरकार के हस्तक्षेप को कम से कम किया है। 

पीएम ने कहा कि नई सुविधाएं मिनिमम गवर्नमेंट और मिनिमम गवर्नेंस को आगे बढ़ाते हैं इसीलिए अब इसमें सरकार का हस्तक्षेप बेहद कम होगा। और ईमानदार टैक्सपेयर्स का सही मायनों में सम्मान होगा।

तीन बड़े बदलाव 

बदलावों के बारे में सुनकर अब हमारे दिमाग में एक सवाल उनके जानने के बारे में जरूर आएगा इसीलिए इसको गहराई से जानना जरूरी है। ताकि हम सरलता से इस पूरे बदलाव को समझ पाए 

फेसेलेस असेसमेंट 

इसके आने से पहले पहली स्क्रुटनी वाले मामलों में लोगों को टैक्स अधिकारियों के पास जाकर चक्कर लगाना पड़ता था जिसमें घूस लेना, भ्रष्टाचार  और अन्य तरह की परेशानियां सामने आती थी। और लोग ज्यादातर कुछ ले देकर इन चक्रों से छूटने की कोशिश करते थे लेकिन अब फिर से असेसमेंट आने के बाद यह सब बंद हो जाएगा 

अब टैक्सपेयर्स को चक्कर लगाने की या टैक्स अधिकारियों के पास, इनकम टैक्स ऑफिस जाने की जरूरत नहीं है। और आसानी से घर पर बैठे-बैठे अपना टाइम दे सकेंगे

फेसलेस अपील

यह सुविधा 25 सितंबर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के शुभ अवसर पर शुरू की जाएगी। इस व्यवस्था से टैक्सपेयर्स को राहत पहुंचाने और भ्रष्टाचार और अन्य मनमानियों को रोकने की कोशिश की जाएगी। इसके अनुसार अगर किसी टैक्सपेयर को कुछ शिकायत है तो उसे अपील का अधिकार होगा जो कि अधिकारी रेंडम तरीके से चुना जाएगा। 

टैक्सपेयर्स चार्टर 

सुनने में भारी-भरकम मालूम होने वाला इस शब्द को अगर हम आसान भाषा में समझे तो यह मुख्य तौर पर एक लिस्ट होगी जिसमें टैक्सपेयर्स के ना केवल अधिकार और कर्तव्य बताए जाएंगे बल्कि टैक्स अधिकारियों के लिए कुछ दिशा-निर्देश भी दिए होंगे जिसके द्वारा करदाताओं और अधिकारियों के बीच एक सेतु बनाने की कोशिश की जाएगी जिसके प्रति टैक्स अधिकारियों को जवाबदेही होना पड़ेगा जिससे कि करदाताओं की परेशानियां कुछ हद तक कम होंगी। इस समय ये केवल 3 देशों अमेरिका कनाडा, और ऑस्ट्रेलिया में ही लागू है भारत अब इसे लागू करने वाला चौथा देश बन चुका है। 

उम्मीद है सभी बदलावों से भारतीय करदाताओं के सामने आने वाली परेशानियां कम होंगी और वह अब और अच्छी तरह से दी गई सुविधाओं का लाभ उठा सकेंगे और एक अच्छे करदाता के रूप में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकेंगे

Diksha Gupta

Diksha Gupta

दीक्षा उन लेखकों में से हैं जिनको शब्दों से बेहद प्यार हैं। और इन शब्दों को खूबसूरत तरीके से पन्ने पर उतारना दीक्षा को काफ़ी पसंद है। आप सब तक ख़बरें पहुंचाने के अलावा दीक्षा को कविताएं लिखना भी पसंद है। शौक की बात करें तो दीक्षा डांस में भी रूचि रखती हैं। और एक ऐसी लड़की हैं जिन्हें नई चीज़ें सीखने में मज़ा आता है। दीक्षा का मानना है की वह लक्ष्य कि प्राप्ति के लिए ही ईश्वर पर और खुद पर विश्वास करना पसंद करती हैं.