इंदौर के अस्पताल की शर्मनाक लापरवाही, कोरोना मरीज के शव को चूहों ने कुतरा

इंदौर के अस्पताल की शर्मनाक लापरवाही, कोरोना मरीज के शव को चूहों ने कुतरा
▶️इंदौर के एक अस्पताल की शर्मनाक लापरवाही, 87 वर्ष के बुजुर्ग के शव को चूहों ने कुतरा
▶️शव की हालत देख परिजनों ने अस्पताल में और अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया
▶️अस्पताल शव को दे भी नहीं रहा था इसके लिए उन्होंने 1 लाख रुपए लिए तब जाकर शव परिजनों को सौंपा गया

Dead Body Negligence, Indore Hospital: आय दिन अस्पताल में शवों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार की खबरें सामने आती रहती हैं। कई बार तो ऐसा भी हुआ है कि घरवालों को पता तक नहीं लगता और उनके परिजन का शव गायब हो जाता है। ऐसे ही दिल को झकझोर देने वाली खबर इंदौर (Indore) के एक अस्पताल से आ रही है जहां एक 87 वर्ष के बुजुर्ग के शव को चूहा कुतर देता है।

बुजुर्ग के शव को खा गए चूहे

दरअसल इंदौर के एक अस्पताल में भर्ती 87 साल के कोरोना मरीज (Corona Patient) की मौत हो जाती है। अस्पताल ने शव की देख रेख पर ध्यान ना देते हुए ऐसी जगह रख दी जहां इस बुजुर्ग के शव को चूहों ने बुरी तरह से कुतर दिया। बाद में जब शव के परिजन आए तो शव को देखकर उनके होश उड़ गए, जिसके बाद उन्होंने अस्पताल में और अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया।

87 वर्षीय कोरोना मरीज का था शव

दरअसल ये मामला इंदौर के ही एक अस्पताल की है जहां अस्पताल की लापरवाही ने लोगों के होश उड़ा दिए हैं। यहां एक कोरोना मरीज जो इंदौर के विनय नगर जैन कॉलोनी (Vinaynagar Jain Colony Indore) में रहता था वो इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती हुआ। ये बुजुर्ग कोरोना संक्रमित पाया गया था जिसके बाद परेशानियां बढने के कारण उसने अस्पताल जाना उजित समझा।

Indore hospital irresponsible behaviour

अस्पताल में भर्ती होने के बाद बुजुर्ग की हालत में सुधार होते देखा गया लेकिन बाद में खबर ये आई कि कोरोना (Corona Virus) मरीज की मौत हो गई है। रात में मौत होने के कारण अस्पताल ने घरवालों को सूचित नहीं किया जिसके कारण रातभर में चूहों ने शव को कुतर कर बुरी हालत कर दी।

शव देख परिवारवालों के उड़े होश

इस बारे में मृत व्यक्ति के परिवारवालों का कहना है कि जब वो शव को अंतिम संस्कार के लिए अस्पताल लेने पहुंचे तो शव की हालत देख चौक गए। उन्होंने देखा कि शव के कान, आखें, नाक, उंगलियां चूहे कुतर चुके थे। इसके बाद परिवार ने बाहर खूब हंगामा किया और अस्पताल की व्यवस्था पर सवाल खड़े किए।

इसके अलावा परिवारवालों का कहना है कि अस्पताल शव को दे भी नहीं रहा था इसके लिए उन्होंने 1 लाख रुपए लिए तब जाकर शव को हमें सौंपा गया।

पहले भी हुआ है ऐसा

आपको बता दें कि इंदौर (Indore Hospital) के अस्पताल की ये कोई पहली लापरवाही नहीं है बल्कि इससे पहले भी यहां इस तरह के नजारे देखे जा चुके हैं। हाल ही में इंदौर के एक अस्पताल में लावारिस शव सड़कर कंकाल बन गया और उसे देखने वाला कोई नहीं था।

आगे पढ़ें :

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।