सुबह उठते ही देखते हैं मोबाइल फ़ोन तो सावधान, खतरनाक बीमारियां कर रहीं हैं आपका इंतजार

सुबह उठते ही देखते हैं मोबाइल फ़ोन तो सावधान, खतरनाक बीमारियां कर रहीं हैं आपका इंतजार
➡️यूनाइटेड किंगडम में एक सर्वे के अनुसार पाया गया कि जिन लोगों की आदत सुबह उठकर फोन चलाने की होती है उनके दिन की शुरूआत स्ट्रेस से होती है
➡️एक रिसर्च के अनुसार 80 फीसदी लोग सुबह उठते ही मोबाइल उठाते हैं, इसके अलावा हर 15 मिनट के अंदर करीब 6 लोग मोबाइल चेक करते हैं
➡️हमेशा सुबह की शुरूआत मेटाबॉलिज्म को सही रखने के साथ करना चाहिए, इसके लिए पूरे शरीर को ऊर्जावान रखना ज़रूरी है- डॉ. मेधावी अग्रवाल

आज कल के युग में मोबाइल फ़ोन एक अफ़ीम की तरह काम करता है। हम इसे शौख भी नहीं कह सकते क्योंकि दुनिया भर में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो स्मार्ट फ़ोन (smartphone) से ऊब चुके हैं लेकिन फिर भी वो उसके बिना नहीं रह सकते क्योंकि आजकल घर व ऑफिस (office) का आधा काम मोबाइल फ़ोन पर निर्भर है। इस टेक्नोलॉजी (technology) ने आज सभी चीजें आसान कर दी है लेकिन शायद आपको जानकर हैरानी होगी कि कुछ मायनों में आपका ही मोबाइल आपको बीमार कर रहा है।

सुबह उठते ही मोबाइल देखना खतरों से खाली नहीं

Stress due to use of mobile phone in morning

हम में से करीब 90 फीसदी लोग ऐसे हैं जो सुबह उठते ही सीधा मोबाइल फोन उठाते हैं, हमारी सुबह ही मोबाइल देखकर होती है। लेकिन कई मायनों में ये लत (smartphone addiction) बेहद घातक है। शायद आपको जानकर हैरानी होगी कि सुबह उठते ही मोबाइल देखने से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं।

पीछा लग जाता है तनाव और चिंता

Depression due to use of phone in morning

सुबह उठते ही मोबाइल फोन के इस्तेमाल से चिंता (worries) और तनाव (sress) जैसी खतरनाक बीमारी पीछे लग जाती है। इसे हम खतरनाक इसलिए कह रहे हैं क्योंकि निरन्तर तनाव और चिंता का सामना करने से अवसाद (depression) की शिकायत हो जाती है, और एक बार जो व्यक्ति अवसाद में पड़ जाता है तो उसके लिए इस बीमारी से उभरना मुश्किल हो जाता है। इसलिए सुबह उठते ही ईमेल, मैसेज और कॉल को कुछ देर के लिए नजरअंदाज कर अपनी सुबह तनाव मुक्त बनाएं।

खुद से और आसपास के लोगों से चिढ़ने की समस्या

Use of mobile phone in morning can be dangerous

रोज़ाना सुबह एक जैसी गतिविधयां करने से व्यक्ति चिड़चिड़ा (irritable) हो जाता है। वो सामने वाले लोगों से तो चिढ़ता ही है साथ ही खुद से भी फ्रस्ट्रेट होने लगता है। और एक दिन ऐसा आता है जब उसे ये लगने लगता है कि मेरे जीवन में सब खराब हो रहा है। उसे किसी से भी बात करने व किसी के सम्पर्क में रहना अच्छा नहीं लगता। व्यक्ति के स्वभाव में दिन प्रतिदिन दिन बदलाव आते जाते हैं और वो नकारात्मक होने लगता है।

कार्यक्षमता पर नकारात्मक असर

सुबह जब कोई व्यक्ति उठते ही मोबाइल फोन उठा लेता है और तमाम चीज़े देखने लगता है इससे उसके कार्यक्षमता पर नकारात्मक असर (negative impact) पड़ता है। कई बार हम मोबाइल फोन और वीडियोज देखने के कारण लेट भी जाते हैं। इसके अलावा फोन की लत लगने से ऑफिस के काम में मन नहीं लगता, वहां भी हम बीच बीच में फोन चलाने लगते हैं जिससे कार्य पर असर पड़ता है।

आगर कोई बहुत जरूरी काम ना हो तो सुबह की शुरूआत अलग तरह से करें। उठते ही फोन देखने की बजाय थोड़ा योग करें (yoga in morning), अगर घर में बच्चें हैं तो उनके साथ खेल लें। नाहा धो कर फैमिली के साथ ब्रेकफास्ट करें, और उसके बाद अपना फोन उठाएं। ऐसा करने से पूरा दिन खुशहाल और फ्रेश बीतेगा।

लाइफस्टाइल और फिटनेस से जुड़ी अगर आपके मन में कोई भी सवाल है तो हम हमें कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं।

आगे पढ़ें

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।