EPF के दायरे में आने वाले कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, आ गया है आपका पैसा

EPF के दायरे में आने वाले कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, आ गया है आपका पैसा

▶️ वित्तीय वर्ष 2019-20 के कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) पर व्याज 8.5 प्रतिशत तय
▶️ अक्टूबर महीने में 8.15% ब्याज जबकि दिसंबर में 0.35% ब्याज दिया जाएगा
▶️ वर्तमान वित्तीय वर्ष का EPF, पिछले 7 वर्षों की तुलना में सबसे निचले स्तर पर

Provident Fund News: बुधवार को EPFO (Employees Provident Fund Organisation) की बैठक हुई जिसमें कर्मचारियों के PF को लेकर बड़ा फैसला लिया गया। EPFO द्वारा आयोजित की गई इस बैठक में 2019-20 वित्तीय वर्ष के प्रोविडेंट फंड तय किया गया। इसके साथ ही कर्मचारियों को किस तरह से उनका पैसा दिया जाएगा, इस मुद्दे पर भी फैसला लिया गया हैं।

कर्मचारियों को EPF पर ब्याज 8.5% मिलेगा, दो किस्तों में आएगा पैसा

Good News: EPF interest rate set at 8.5%

बीते 5 मार्च को EPFO के CBT (सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज) की बैठक में साल 2019-20 के लिए EPF ब्याज दर 8.50 फीसदी रखने की सिफारिश की थी। काफी लंबे समय तक यह मामला लटका रहा। आज यानी बुधवार को श्रम मंत्री संतोष गागवार की अध्यक्षता में CBT ने सिफारिश के अनुरूप कर्मचारियों को ब्याज देने का फैसला लिया।

कर्मचारियों को दो हिस्सों में मिलेगा ब्याज का पैसा

वित्तीय वर्ष 2019-20 में कर्मचारियों का EPF (Employee Provident Fund) पर ब्याज 8.5% तय कर दिया गया है। गौरतलब है कि कर्मचारियों को यह पैसा दो किस्तों में दिया जाएगा। पहला हिस्सा यानि 8.15% ब्याज अक्टूबर माह में आएगा जबकि ब्याज का दूसरा हिस्सा 0.35% दिसंबर माह तक कर्मचारियों के खाते में डाल दिया जाएगा। लगभग 6 करोड़ कर्मचारियों का सीधे तौर पर इसका फायदा होगा।

पिछले 7 साल के सबसे निचले स्तर पर EPF ब्याज दर

वर्तमान वित्तीय वर्ष की ईपीएफ पर ब्याज दर पिछले साल के मुकाबले 0.15 फीसदी कम है। चौंकाने वाली बात यह है कि 2019-20 ईपीएफ दर पिछले 7 सालों की तुलना में सबसे निचले पायदान पर है। आंकड़ों का अध्ययन करने पर स्पष्ट रूप से ब्याज दर की गिरावट देखी जा सकती है।

  • वित्त वर्ष 2013-14 और 2014-15 = 8.75 फीसदी
  • वित्त वर्ष 2015-16 = 8.8 फीसदी
  • वित्त वर्ष 2016-17 = 8.65 फीसदी
  • वित्त वर्ष 2017-18 = 8.55 फीसदी
  • वित्त वर्ष 2018-19 = 8.65 फीसदी

महत्वपूर्ण जानकारी: PF कैसे बनता है!

दरअसल, कर्मचारी भविष्य निधि के अंतर्गत आने वाले कर्मचारियों की बेसिक सैलरी और महंगाई भत्ता का 12% PF के रूप में जाता है। यह कर्मचारी से कंपनी को जाता है। कंपनी द्वारा इस हिस्से को दो भागों में बांट दिया जाता है। इसके कुल प्रतिशत का 8.33 फीसदी EPS (Pmployee Pension Scheme) में जाता है। वही, बाकी हिस्सा PF के रूप में खाते में आता है।

आगे पढ़ें

Mahima Nigam

Mahima Nigam

महिमा एक चंचल स्वभाव कि लड़की है और रियल लाइफ में खेलकूद करने के साथ इन्हें शब्दों के साथ खेलना भी काफी पसंद है। बता दें कि इस वेबसाइट को शुरू करने का सपना भी महिमा का है और उसे मंज़िल तक पहुंचाने का भी। उम्मीद करते हैं कि आप साथ देंगे