चुपके चुपके मुलाक़ात, आओ फिर एक हो जाए

चुपके चुपके मुलाक़ात, आओ फिर एक हो जाए
शनिवार, मुंबई के पांच सितारा होटल में देवेंद्र फडणवीस और संजय राउत की हुई मुलाकात, महाराष्ट्र में सियासी हलचल बड़ी
शिवसेना सांसद संजय राउत बोले- हम कोई दुश्मन नहीं, मुख्यमंत्री को भी बैठक की जानकारी
2019 में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद एनडीए और शिवसेना का टूटा था गठबंधन

Maharashtra Politics: देश में आजकल एक ओर जहां कोरोना का कहर जारी है, वहीं दूसरी ओर सियासी गलियारों में भी बड़ी हलचलें देखने को मिल रही है। बिहार में अक्टूबर में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) होने हैं और गठबंधन की राजनीति जोरों पर है। इस बीच सियासी हलचल महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस (Davendra Fadnavis) और संजय राउत (Sanjay Raut) की मुलाकात से बड़ी है।

देवेंद्र फडणवीस, संजय राउत और होटल

बीते कल यानी शनिवार को मुंबई के एक होटल में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Davendra Fadnavis Former CM Maharashtra ) और शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut MLA Shivsena) के बीच एक मुलाकात हुई। मुलाकात की खबर बाहर आते ही महाराष्ट्र की सियासत में हलचल मच गई। मामला इसलिए दिलचस्प है क्योंकि ये वही नेता हैं, जो कुछ साल पहले महाराष्ट्र में गठबंधन की सरकार चला रहे थे। 2019 विधानसभा चुनाव (2019 Assembly Election) के बाद शिवसेना ने एनडीए का दामन छोड़कर कांग्रेस और एनसीपी के साथ सरकार बना ली। अब अचानक से दोनों विपक्षी नेता एक होटल में चर्चा होना जायज है।

संजय राउत बोले- हम दुश्मन नहीं

दोनों नेताओं की मुलाकात के बाद जब चर्चा काफी ज्यादा बढ़ने लगी तो संजय राउत द्वारा इस मामले में सफाई दी गई। राउत ने कहा, मेरी शनिवार को कुछ मुद्दों को लेकर देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात हुई।

Devendra Fadnavis Meets Sanjay Raut

संजय राउत ने यह भी कहा कि भले ही हमारे वैचारिक मतभेद हो सकते हैं लेकिन हम कोई दुश्मन नहीं। हमारी मुलाकात की पूरी जानकारी मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackarey CM Maharashtra) को पहले से ही थी।

बीजेपी ने कहा, कोई राजनीतिक मुलाकात नहीं

इस पूरे मामले में महाराष्ट्र बीजेपी की प्रतिक्रिया भी सामने आई। महाराष्ट्र बीजेपी के मुख्य प्रवक्ता केशव उपाध्ये (Keshav Upadhyay Spokesperson BJP) ने सोशल मीडिया पर कहा, मुलाकात राजनीतिक दृष्टिकोण से नहीं थी। संजय राउत शिव सेना के मुखपत्र सामना के लिए देवेंद्र फडणवीस का इंटरव्यू लेना चाहते थे। इसी संदर्भ में दोनों की मुलाकात हुई थी। फडणवीस द्वारा बिहार चुनाव के बाद इंटरव्यू देने की बात कही गई।

समझने वाली बात यह है कि एनडीए (NDA) गठबंधन में शिवसेना और शिरोमणि अकाली दल सबसे पुरानी पार्टियों में से एक थी। लेकिन पिछले साल 2019 में शिवसेना और कुछ दिन पहले शिरोमणि अकाली दल एनडीए गठबंधन (SAD-NDA Alliance Brokeup) से अलग हो गई हैं। आश यह भी लगाई जा रही थी कि, क्या देवेंद्र फडणवीस और संजय रावत के बीच गठबंधन को लेकर मुलाकात तो नहीं हुई।

आगे पढ़ें-

Manoj Thayat

Manoj Thayat

पत्रकारिता मनोज का जुनून है। इसी जुनून को जीने के लिए और अपने तरीके से ख़बरों को आप तक पहुँचाने के लिए मनोज The Toss News के साथ जुड़े हैं। मनोज को पढ़ने, लिखने और संवाद करने का बेहद शौक है। देश-दुनिया की ख़बरों को आप तक समय-समय पर पहुँचाना मनोज का लक्ष्य है। आप सभी रोज़ाना मनोज द्वारा लिखी गईं ख़बरें पढ़ सकते हैं और Comment में अपना Feedback भी दे सकते हैं।