राजधानी दिल्ली में खतरनाक स्तर पर पहुंचा प्रदूषण, खुली हवा में सांस लेना हुआ मुश्किल

राजधानी दिल्ली में खतरनाक स्तर पर पहुंचा प्रदूषण, खुली हवा में सांस लेना हुआ मुश्किल
▶️सर्दियां बढ़ने के साथ-साथ राजधानी दिल्ली में बढ़ा प्रदूषण का स्तर, सांस लेना हुआ मुश्किल
▶️आनंद विहार और द्वारका सहित कई इलाकों में 430 पर पहुंचा AQI का स्तर
▶️पार्क और ऑफिस जाने वाले लोगों की आंखों में जलन और गले में खरास की हो रही है शिकायत, स्मॉग के कारण सड़कों पर छाया अंधेरा

Delhi Pollution News: राजधानी दिल्ली में जैसे-जैसे सर्दियां बढ़ रही हैं वैसे-वैसे प्रदूषण का स्तर भी बिगड़ता जा रहा है। गुरुवार को तो दिल्ली के प्रदूषण (Pollution In Delhi) ने आपातकालीन स्तरों को भी छू लिया है। हालात तो ऐसे हो गए हैं कि दिल्ली के कुछ इलाकों में दोपहर तक भी अंधेरा साफ दिखाई देता है।

गंभीर श्रेणी में पहुंचा प्रदूषण

राजधानी दिल्ली में लगातार वायु की गुणवत्ता खराब होती जा रही है, आज सुबह 6 बजे से ही लोगों का बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (Central pollution control board) की मानें तो दिल्ली के आनंद विहार (Anand Vihar Delhi) में वायु की गुणवत्ता सूचकांक 422, आरके पुरम में 407, द्वारका में 421, सेक्टर 8 और बवाना में 430, दर्ज की गई है.

Pollution On Delhi Increased On Great Intent AQI Reached 430

स्मॉग के कारण हो रही है परेशानी

दरअसल सुबह के समय विजिबिलिटी कम होती है जिसके कारण स्मॉग (Delhi Smoke Increased) ज्यादा होता है और सड़कों पर कुछ दिखाई नहीं देता है। ऐसे में वाहनों को लाइट्स जला कर सड़कों पर चलना पड़ रहा है। पार्क में टहलने वाले लोगों का कहना है कि सुबह जब वो पार्क आते हैं तो गले में खरास और आंखों में जलन महसूस होती है जिसके कारण हम बच्चों को लेकर पार्क नहीं आते हैं।

वाहनों के कारण भी बढ़ रहा है प्रदूषण

राजधानी दिल्ली (Capital Delhi) में पहले से ही प्रदूषण का स्तर काफी खतरनाक स्थिति में है ऐसे में सड़कों पर चलने वाले वाहनों के कारण स्थिति और खराब होती जा रही है जिसके कारण अब राजधानी में वाहनों का इस्तेमाल 30% कम करने की सलाह दी है, साथ ही एजेंसियों को और अधिक सतर्क रहने का निर्देश दिया गया है।

प्रदूषण का स्तर इतना बढ़ गया है कि घर में बैठे लोगों के भी आंखों में जलन और गले में खरास महसूस हो रही है, खुली हवा में जाने के बाद फेफड़ों को भी नुकसान पहुंच सकता है। साथ ही जैसे-जैसे प्रदूषण की मात्रा बढ़ रही है वैसे-वैसे कोरोना (Corona Virus) का खतरा भी बढ़ सकता है।

आगे पढ़ें-

Juli Kumari

Juli Kumari

जूली एक सिंपल सी लड़की है जिसे खुद सजना और ख़बरों को अपने शब्दों से सजाना बेहद पसंद है। जूली को राजनीति, लाइफस्टाइल और कविताएं लिखने का भी काफी शौक है। आप The Toss News में जूली के लिखे हुए लेखों को पढ़ सकते हैं और पसंद आए तो शेयर भी कर सकते हैं। और एक राज़ की बात बताऊं? कमेंट कर के या हमारे Social Media Platforms पर मेकअप और हेयरस्टाइल टिप्स भी ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *