तेज़ हुई कोरोना की दूसरी लहर, दिवाली पर मिठाइयों की लेनदेन और मिलने जुलने पर लगाएं रोक

तेज़ हुई कोरोना की दूसरी लहर, दिवाली पर मिठाइयों की लेनदेन और मिलने जुलने पर लगाएं रोक
▶️एम्स के डॉक्टर ने कहा, कोरोना की दूसरी लहर लापरवाही और प्रदूषण के कारण एक बार फिर बढ़ने लगी है
▶️प्रदूषण के कारण वायरस ज्यादा देर तक हवा में टिका रहता है, प्रदूषण और वायरस मिलकर व्यक्ति के फेफड़ों को नुकसान पहुंचाते हैं।
▶️अगर सावधानी दिवाली के बाद तक चलती रही और कोरोना के आंकड़े कम होते रहे तो पीक खत्म हो जाएगा- एम्स डॉक्टर

Coronavirus Update: करीब सात महीने से देशभर में फैले कोरोना संक्रमण ने लोगों का जीना मुश्किल कर रखा है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां कोरोना के मामले काफी हद तक कम हो गए थे लेकिन अब एक बार फिर आंकड़ों में तेज़ी से बढ़ोतरी हो रही है। जिसके बाद अब कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर देखने को मिल सकती है।

राजधानी दिल्ली में फिर बढ़ने लगे हैं कोरोना के आंकड़े

बता दें कि पहले ही चर्चा हो चुकी थी की यदि राजधानी में प्रदूषण बढ़ता है तो कोरोना का खतरा दोबारा अपने चरम पर पहुंच सकता है, औऱ ये हालात अब दिखने लगे हैं। लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों औऱ इससे हो रही लगातार मौत की खबरें भी सुनने को मिल रही हैं।

डॉक्टर्स की राय

एम्स के डॉक्टर का कहना है कि अभी कोरोना के तीसरी लहर की शुरूआत नहीं हुई है ये दूसरी लहर ही है जो लापरवाही और प्रदूषण के कारण एक बार फिर बढ़ने लगी है। उन्होने आगे कहा कि, कई बार खबर सुनने को मिली थी जिसमें देखा गया था कि लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं ऐसे में ये खतरा बढ़ना तो आम है।

प्रदूषण भी है कारण

आजतक की एक रिपोर्ट के अनुसार एम्स के डॉक्टर गुलेरिया ने कहा है कि कोरोना की दूसरी लहर तेज होने का कारण प्रदूषण है, क्योंकि प्रदूषण के कारण वायरस ज्यादा देर तक हवा में टिका रहता है साथ ही जब ये प्रदूषण और वायरस मिल जाते हैं तो दोनों ही व्यक्ति के फेफड़ों को नुकसान पहुंचाते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि हमें ध्यान रखना है कि कोरोना वायरस अभी खत्म नहीं हुआ है, हमें मास्क जरूर लगाना है साथ ही यदि आप घर से काम कर रहे हैं तो ज्यादा ज़रूरी हो तभी बाहर निकलें क्योकि घर में रहना ही इस संक्रमण से बचने का एकमात्र उपाय है।

युवाओं के कारण फैल रहा है वायरस

डॉक्टर गुलेरिया ने कहा कि आजकल युवाओं में ये धारणा बन गई है कि यदि कोरोना हो भी जाता है तो हम ठीक हो जाएंगे कुछ नहीं होगा लेकिन ये बहुत गलत सोच हैं, क्योंकि युवा ही लापरवाही से कोरोना घर ले जा रहे हैं जिससे बुजुर्ग प्रभावित हो रहे हैं। ऐसे में युवाओं को परिवार का खास ख्याल रखने की ज़रूरत है।

आने वाले हफ्ते हैं बेहद ज़रूरी

डॉक्टर गुलेरिया का कहना है कि दवाइयां आने के बाद कोरोना के मामले काफी कम हो जाएंगे। लेकिन हमे अभी आने वाले कुछ हफ्तों तक सावधानी बरतनी है। अगर यही सावधानी दिवाली के बाद तक चलती रही और कोरोना के आंकड़े कम होते रहे तो पीक खत्म हो जाएगा।

इसके अलावा अभी दिवाली औऱ छठ पूजा जैसे त्योहार भी आ रहे हैं ऐसे में लोगों से मिलना जुलना थोड़ा कम रखना होगा, घर में परिवार के साथ ही सारे त्योहार मनाने होगें।

आगे पढ़ें-

Mahima Nigam

Mahima Nigam

महिमा एक चंचल स्वभाव कि लड़की है और रियल लाइफ में खेलकूद करने के साथ इन्हें शब्दों के साथ खेलना भी काफी पसंद है। बता दें कि इस वेबसाइट को शुरू करने का सपना भी महिमा का है और उसे मंज़िल तक पहुंचाने का भी। उम्मीद करते हैं कि आप साथ देंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *