नीतीश कुमार का नेतृत्व लोजपा को मंजूर नहीं, एनडीए महागठबंधन से LJP हुई अलग

नीतीश कुमार का नेतृत्व लोजपा को मंजूर नहीं, एनडीए महागठबंधन से LJP हुई अलग
▶️ लोक जनशक्ति पार्टी की संसदीय बैठक में बड़ा फैसला, बिहार विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने का लिया फैसला
▶️ जेडीयू के साथ मतभेदों के कारण महागठबंधन से अलग हुई लोजपा, बीजेपी से जारी रहेगा गठबंधन
▶️ एनडीए महागठबंधन में सीटों का बंटवारा, 50-50 सीटों के फार्मूले पर बनी बात

LJP Exits NDA Before Bihar 2020 Election | बिहार चुनाव में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (NDA) की सीटों के बंटवारे की रस्साकशी आखिरकार खत्म हुई। लेकिन इसके साथ ही महागठबंधन को चुनाव से पहले एक बड़ा झटका भी लगा। दिल्ली में लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) की संसदीय बैठक में पार्टी ने महागठबंधन से अलग होकर बिहार विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला लिया।

लोजपा को नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ना मंजूर नहीं

LJP exits from NDA

रविवार करीब 3 बजे दिल्ली में लोजपा संसदीय बोर्ड की बैठक हुई। जिसमें सबसे बड़ा फैसला यह लिया गया कि लोजपा 2020 विधानसभा चुनाव में एनडीए महागठबंधन (NDA) में रहकर चुनाव नहीं लड़ेगी। लोजपा की बैठक में एक महत्वपूर्ण प्रस्ताव भी पारित हुआ। प्रस्ताव के अनुसार, लोजपा के सभी विधायक, पीएम मोदी के हाथों को और मजबूत करेंगे। सीधी बात यह की लोजपा बीजेपी को समर्थन देना नहीं छोड़ेगी।

चिराग पासवान और नीतीश कुमार के बीच मतभेद

जेडीयू के अध्यक्ष नीतीश कुमार और लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान के बीच पहले से ही कई बार मतभेद उत्पन्न हुए हैं। सीटों के बंटवारे की बातचीत के दौरान भी मतभेद साफ तौर पर सामने आ रहे थे।

Chirag Paswan led LJP exits NDA

लोजपा 42 सीटों की मांग कर रही थीं। गठबंधन द्वारा लोजपा के सामने 15 से 20 सीटों का ऑफर रखा गया। इस दौरान जेडीयू नेता ने स्पष्ट कर दिया था कि हमारा गठबंधन लोजपा के साथ नहीं हैं। महागठबंधन लोजपा को अधिक सीटें देना चाहता है तो बीजेपी अपने हिस्से के सीटों को साझा कर ले।

वहीं, शुरुआत से ही लोजपा नीतीश कुमार के नेतृत्व से इंकार कर रही थीं। चिराग पासवान द्वारा स्पष्ट रूप से कहा जा रहा था कि लोजपा अगर गठबंधन से अलग होकर चुनाव लड़ती हैं, तो पार्टी उन सभी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी जहां जेडीयू के प्रत्याशी खड़े होंगे।

मोदी से बैर नहीं, नीतीश की खैर नहीं

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान (LJP head Chirag Paswan) पहले ही स्पष्ट तौर पर कह चुके थे कि उनके बीजेपी के साथ कोई मतभेद नहीं है। चिराग पासवान ने आज की बैठक में भी कहा की हमारे सभी उम्मीदवार बीजेपी को समर्थन देंगे। बीजेपी और लोजपा मिलकर बिहार में अगली सरकार बनाएंगे। चिराग पासवान ने मोदी की जमकर तारीफ भी की। इस बड़े फैसले से पहले चिराग पासवान ने दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और अमित शाह से कई बार मुलाकात की।

एक बात तो स्पष्ट है कि चिराग पासवान ने कम सीटें मिलने और नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से वैचारिक मतभेद (ideological differences) होने के कारण महागठबंधन से अलग होने का फैसला लिया। लोजपा बीजेपी को समर्थन जारी रखेगी। अब देखना दिलचस्प होगा कि चिराग पासवान के नेतृत्व में चुनाव लड़ते हुए लोजपा बिहार चुनाव में कितने सीटें अपने नाम करने में सफल होती है।

आगे पढ़ें

Manoj Thayat

Manoj Thayat

पत्रकारिता मनोज का जुनून है। इसी जुनून को जीने के लिए और अपने तरीके से ख़बरों को आप तक पहुँचाने के लिए मनोज The Toss News के साथ जुड़े हैं। मनोज को पढ़ने, लिखने और संवाद करने का बेहद शौक है। देश-दुनिया की ख़बरों को आप तक समय-समय पर पहुँचाना मनोज का लक्ष्य है। आप सभी रोज़ाना मनोज द्वारा लिखी गईं ख़बरें पढ़ सकते हैं और Comment में अपना Feedback भी दे सकते हैं।