Birthday Special: जाति-धर्म की बेड़ियों से नहीं बंधे थे एपीजे अब्दुल कलाम के विचार, क्या गीता और कुरान दोनों पढ़ते थे कलाम?

Birthday Special: जाति-धर्म की बेड़ियों से नहीं बंधे थे एपीजे अब्दुल कलाम के विचार, क्या गीता और कुरान दोनों पढ़ते थे कलाम?
मिसाइल मैन डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की जयंती को ‘वर्ल्ड स्टूडेंट डे’ के रूप में मनाया जाता है
डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम ने 2002 में भारत के 11 वेें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी
डॉ. कलाम को उनकी उपलब्धियों के लिए पद्म भूषण, पद्म विभूषण और भारत रत्न से सम्मानित किया गया था

Dr. APJ Abdul Kalam Birthday: अगर आपसे पूछा जाए कि भारत के एक ऐसे महान व्यक्तित्व का नाम बताइए जिन्हें जाति-धर्म, राजनीति से बढ़कर लोगों ने प्रेम किया है। अधिकतम लोगों का जवाब गांधी और एपीजे अब्दुल कलाम (Former Indian President APJ Abdul Kalam) ही होगा। खुशी की बात यह है कि पूर्व राष्ट्रपति, मिसाइल मैन, भारत रत्न डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की आज जयंती हैं। हमेशा जनता के दिलों में रहने वाले जनता के राष्ट्रपति डॉ. कलाम की जयंती (Dr. Abdul Kalam Jayanti) पर विशेष लेख ‘the toss news’ के द्वारा प्रस्तुत है।

एक नजर में डॉ. कलाम

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु रामेश्वरम (Rameshwaram Tamilnadu) के एक गरीब परिवार में हुआ था। फिजिक्स और विज्ञान के विषयों की डॉ. कलाम ने पढ़ाई की। हालांकि कलाम का सपना पायलट बनना था। एनडीए (NDA) की परीक्षा पास भी की लेकिन उत्तराखंड के देहरादून में हुए इंटरव्यू में बाहर हो गए। असफलता के बाद जुनून के साथ ऐसा कठिन परिश्रम किया की कलाम को पूरा विश्व मिसाइल मैन (Missile Man Of India) के नाम से जानने लगा।

Happy Birthday to Missile Man Of India APJ Abdul Kalam

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम ने 2002 में भारत के 11वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। डॉ. कलाम को पद्म भूषण, पद्म विभूषण और 1997 में भारत का सर्वोच्च पुरस्कार भारत रत्न (Bharat Ratna Abdul Kalam) से भी सम्मानित किया गया। साल 2015 में शिलांग में एक लेक्चर देते समय कलाम अचानक गिर जाते हैं। 27 जुलाई 2015 को डॉ. कलाम हम सभी को छोड़कर चले गए।

जाति-धर्म से परे थे डॉ. कलाम के विचार

मशहूर पत्रकार राज चेंगप्पा अपनी किताब ‘वेपेंस ऑफ पीस (Weapons Of Peace)’ में एक महत्वपूर्ण घटना का जिक्र किया है। वे लिखते हैं, एक बैठक में इंदिरा गांधी ने कलाम का अटल बिहारी बाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) से परिचय कराया। बाजपेयी द्वारा डॉ. कलाम को गले लगाया जाता है। यह सब देख रही इंदिरा गांधी मजाकिया अंदाज में बाजपेयी से कहती है कि डॉ. कलाम मुसलमान है। बाजपेयी इंदिरा गांधी के बात का जवाब देते हुए कहते हैं- जी हां, लेकिन पहले भारतीय हैं और एक महान वैज्ञानिक भी है। डॉ. कलाम (Dr. Kalam Ke kisse) का इतना सम्मान था कि बाजपेयी ने कलाम को अपने मंत्रिमंडल में शामिल होने का न्योता तक दिया था।

Happy Birthday to Missile Man Of India APJ Abdul Kalam

डॉ. कलाम के प्रेस सचिव एस.एम. खां ने यह पुष्टि की है कि उन्होंने कलाम को कुरान और गीता दोनों पढ़ते हुए देखा है। धर्म के विषय में कलाम साहब ने कभी कहा था, “किसी भी धर्म में किसी धर्म को बनाए रखने और बढ़ाने के लिए दूसरों को मारना नहीं बताया गया।”

कलाम के कारनामे

  1. 1981 में पद्म भूषण जबकि 1990 में पद्म विभूषण सम्मान से नवाजा गया।
  2. 1997 में भारत के सर्वोच्च पुरस्कार ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया गया।
  3. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (ISRO) में उनके कार्यों के कारण उन्हें ‘मिसाइल मैन’ के नाम से जाना जाता है।
  4. साल 2002 में भारत के 11वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण की।
  5. 1999 में भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार बने।
  6. 1982 में अन्ना यूनिवर्सिटी में उन्हें डॉक्टर की उपाधि से सम्मानित किया।
  7. 1997 में राष्ट्रीय एकता इंदिरा गांधी पुरस्कार से भी नवाजा गया।
Happy Birthday to Missile Man Of India APJ Abdul Kalam

धर्मनिरपेक्षता की बात करने वाले देश भारत में वर्तमान समय में राजनीतिक पार्टियों द्वारा अपने फायदे के लिए लोगों को धर्म के आधार पर लड़ाया जा रहा है। पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की जयंती (Dr. APJ Abdul Kalam Jayanti) के अवसर पर उनकी प्रेरणादायक कहानियां तो आप पढ़ ही रहे होंगे। The toss news द्वारा प्रयास किया गया कि आप सभी के सामने डॉ. कलाम से जुड़े एक ऐसे पहलू को आपके सामने रखा जाए। जिससे आप समझ सके कि हमारे बीच में एक ऐसा महापुरुष रहा था। जिसने जाति-धर्म से ऊपर उठकर इंसानियत के धर्म को सर्वोपरि माना। आशा करते हैं कि इस रिपोर्ट को पढ़ने के पश्चात आपका सभी धर्मों के प्रति प्रेम जरूर बड़ा होगा। ‘The Toss News’ आपके सम्मुख समाज के लिए कुछ अच्छा करने वाले लोगों के जन्मदिन के अवसर पर जन्मदिन विशेष रिपोर्ट लाता रहेगा। जिससे आप होंगे इंस्पायर और करेंगे कुछ अच्छा काम।

आगे पढ़ें

Manoj Thayat

Manoj Thayat

पत्रकारिता मनोज का जुनून है। इसी जुनून को जीने के लिए और अपने तरीके से ख़बरों को आप तक पहुँचाने के लिए मनोज The Toss News के साथ जुड़े हैं। मनोज को पढ़ने, लिखने और संवाद करने का बेहद शौक है। देश-दुनिया की ख़बरों को आप तक समय-समय पर पहुँचाना मनोज का लक्ष्य है। आप सभी रोज़ाना मनोज द्वारा लिखी गईं ख़बरें पढ़ सकते हैं और Comment में अपना Feedback भी दे सकते हैं।