Assam Flood: असम में बाढ़ मचा रहा है तबाही, 110 लोगो की गई जान, कई हज़ार लोग अभी हैं प्रभावित

Assam Flood: असम में बाढ़ मचा रहा है तबाही, 110 लोगो की गई जान, कई हज़ार लोग अभी हैं प्रभावित
▶️ Assam Flood: असम में बाढ़ से 110 लोगो के मौत की पुष्टि, सरकार ने किया मृतक परिवारों के लिए मुआवजे का ऐलान
▶️ इंसान के साथ-साथ जानवर भी हैं बाढ़ से प्रभावित, काजीरंगा का हैं बुरा हाल, हज़ारों हिरण ने गवाई जान
▶️ असम में बाढ़ पर प्रधानमंत्री ने ली अपडेट, हर संभव मदद का दिआ आवासन

असम में बाढ़ से बुरा हाल है, नर्मदा नदी के आस-पास के गांव जलमग्न हो गए हैं बाढ़ और भूस्खलन में अब तक 110 लोगों की जान चली गई हैं, और लाखों की संख्या में लोग प्रभावित हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनेवाल ने प्रत्येक मृतक परिवारों को 4-4 लाख रुपए की राशी देने का वादा किया हैं।

Assam Flood का बुरा हाल

बता दें कि पूरे असम राज्य (Assam Mein Badh) में 33 जिले हैं जिसमें से 24 जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित है, साथ ही करीब 25 लाख लोग बाढ़ भी इस आपदा से झूझ रहे हैं। बाढ़ के कहर से लोगों की फैसले खराब हो गई हैं, साथ ही घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं, सड़के और पुल टूट गए हैं जिसके कारण लोगो को बड़ी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।

असम काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान का भी बुरा हाल है। इस बाढ़ के कारण वहां 108 पशुओं की मौत की ख़बर सामने आई है। जिसमें सबसे अधिक हिरण हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने Assam Flood की समीक्षा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने असम के बाढ़ प्रभावित इलाकों की समीक्षा की है। प्रधानमंत्री ने सुबह फोन करके असम का हाल असम के सीएम सर्वानंद सोनोवाल से लिया है। अपडेट लेते हुए प्रधानमंत्री ने इस विषय पर अपनी चिंता जताई और हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया। साथ ही लोगो के प्रति एकजुटता व्यक्त की।

सीएम सोनोवाल ने ट्वीट करके कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह फोन पर असम में बाढ़, कोविड-19 और गैस कुएं में लगी आग के बारे में पूरी जानकारी ली। श्री मोदी जी ने स्थिति पर चिंता जताई और अपनी एकजुटता व्यक्त की। प्रधानमंत्री ने राज्य को हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया। यह खबर सीएम सोनोवाल ने पूरे देश के साथ सांझा की है।

क्यों आते हैं Assam Flood?

असम में अक्सर बाढ़ की घबरें सुनने में आती हैं, औऱ इससे समूचा जन जीवन अस्त व्यस्त हो जाता है। तो ऐसे में ये बात तो दिमाग में आती होगी कि यहां हमेशा बाढ़ की स्थिति क्यों बनी रहती है, तो आइए जानते हैं अशम में बाढ़ आने के क्या कारण है।

1.तेज़ बारिश

कुछ दिनों पहले असम में मानसून ने दस्तक दी, लेकिन यह मानसून तबाही वाला साबित हुआ, असम के लगातार बारिश से ब्रह्मपुत्र सहित उसकी सहायक नदियों का जल स्तर ऊपर उठ गया हैं और बाढ़ आ गई हैं।

2.Brahmaputra River ख़तरे के निशान से ऊपर

पहाड़ी क्षेत्रों में तेज़ बारिश होने के कारण ब्रह्मपुत्र नदी ख़तरे के निशान से ऊपर बह रही है। और इसकी सहायक नदियों ने भी रफ्तार पकड़ लिया है। जिसके चलते बाढ़ जैसे हालात बने और लगातार जलस्तर बढ़ता गया।

3.Brahmaputra River में बने बांध

ब्रह्मपुत्र नदी में बांध बनने के बाद कभी पानी अधिक छोड़ने कि वजह भी बाढ़ का कारण बनती है। लोग हमेशा से ही वहां बनने वाले बांधों का विरोध करते हुए नज़र आते हैं।

फिलहाल अभी जो असम की स्थिति है वो बेहद दयानिय है। लोग बेहाल हो गए हैं। कोई भूख से मर रहा है तो कोई प्यास से। घरों मे सर तक पानी भर आया है

Diksha Gupta

Diksha Gupta

दीक्षा उन लेखकों में से हैं जिनको शब्दों से बेहद प्यार हैं। और इन शब्दों को खूबसूरत तरीके से पन्ने पर उतारना दीक्षा को काफ़ी पसंद है। आप सब तक ख़बरें पहुंचाने के अलावा दीक्षा को कविताएं लिखना भी पसंद है। शौक की बात करें तो दीक्षा डांस में भी रूचि रखती हैं। और एक ऐसी लड़की हैं जिन्हें नई चीज़ें सीखने में मज़ा आता है। दीक्षा का मानना है की वह लक्ष्य कि प्राप्ति के लिए ही ईश्वर पर और खुद पर विश्वास करना पसंद करती हैं.