20 जुलाई से शुरू हो रहा है कोरोना की वैक्सीन Covaxin का Human Trial, हर भारतीय को पता होनी चाहिए इससे जुड़ी 5 बातें

20 जुलाई से शुरू हो रहा है कोरोना की वैक्सीन Covaxin का Human Trial, हर भारतीय को पता होनी चाहिए इससे जुड़ी 5 बातें
▶️15 अगस्त तक लांच होगी कोरोनावायरस (Corona Virus Vaccine) के लिए बनाई गई वैक्सीन कोवैक्सीन (Covaxin)
▶️ सोमवार से भारत की 12 साइटों में शुरू होगा कोवैक्सीन (Covaxin Bharat Biotech Update) का ह्यूमन ट्रायल (Human Trial)
▶️Covaxin को हैदराबाद (Hyderabad) की भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने आईसीएमआर (ICMR) और नेशनल इंस्टिट्यूट वायरोलॉजी (National Institute Of Virology) के साथ मिलकर बनाया है

2020 में पूरी दुनिया अलग होकर भी एक साथ है। कैसे? तो जवाब है कोरोनावायरस (Corona Virus)। जी हां वो कोरोनावायरस ही है जिसने एक साथ पूरी दुनिया को 2 से 3 महीने के लिए घरों में कैद कर दिया। और इसी बीच दुनिया के लगभग हर व्यक्ति की आदतें भी सामान्य हो गई, जैसे हाथ धोना, मास्क लगाना और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन करना।

इतना ही नहीं इन दिनों सबकी प्राथमिक ख्वाहिश भी एक ही है, कोरोना की वैक्सीन (Corona Virus Vaccine)। तो ऐसे में हम आपके लिए आज एक बड़ी खबर लाए हैं। जी हां, भारत में कोरोना की वैक्सीन (Corona Virus Vaccine), जिसका नाम कोवैक्सीन (Covaxin) है, मानव परीक्षण यानी ह्यूमन ट्रायल (Human Trial Of Covaxin) सोमवार यानी 20 जुलाई (20th July) से शुरू होने वाला है। और इसीलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कोवैक्सीन (Covaxin) से जुड़ी पांच बड़ी बातें जो हर एक भारतीय को पता होनी चाहिए।

covaxin india ki corona vaccine
Image source : AP

1.AIIMS Ethics Committee ने दी अनुमति

आपको बता दें कि इस बात का ऐलान पहले ही हो गया था कि 15 अगस्त तक कोरोनावायरस के लिए भारत में तैयार की जा रही कोवैक्सीन (Covaxin Status) को लांच कर दिया जाएगा। तो मंजिल की ओर चलने का अहम कदम भारत के वैज्ञानिकों और डॉक्टर से उठा लिया है। जी हां एम्स एथिक्स कमेटी (AIIMS Ethics Committee) ने बीते शनिवार को कोवैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल (Covaxin Human Trial) की अनुमति दे दी। जिसके बाद अब सोमवार से प्रीमियम अस्पतालों में ऐसे लोगों पर ह्यूमन ट्रयल किया जाएगा जो स्वस्थ है और इस परीक्षण से गुजरने की इच्छा रखते हैं

2.375 व्यक्तियों पर होगा Covaxin Human Trial

आईसीएमआर ने Covaxin Human Trial के लिए भारत के 12 साइटों को चुना है जिसमें दिल्ली का एम्स एक है। तो ऐसे में Covaxin Human Trial के फेस 1और फेस 2 के लिए 375 स्वयंसेवकों यानी वॉलिंटियर्स पर को वैक्सीन का हुमन ट्रायल किया जाएगा। जिसमें से 100 वॉलिंटियर्स AIIMS के होंगे।

3.वॉलिंटियर्स के स्वास्थ्य की होगी पूरी जांच

कोवैक्सीन (Covaxin Price) के अध्ययन के प्रमुख अन्वेषक राय (Anveshak Ray) ने बताया है कि जो लोग को वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल (Covaxin Human Trial) के लिए तैयार हुए हैं उनमें से कुछ लोगों ने पहले ही अपना रजिस्ट्रेशन करवा लिया था। और सोमवार से ह्यूमन ट्रायल (Human Trial Of Covaxin) शुरू होने से पहले ही हमने हर वॉलिंटियर के स्वास्थ्य की जांच करना शुरू कर दिया है। ट्रायल में वही लोग हिस्सा ले सकते हैं जिनकी उम्र 18 से 55 साल के बीच की है, जिनका पहले कभी कोरोनावायरस (Corona Virus) हुआ नहीं होगा और जो स्वस्थ होंगे।

4.ह्यूमन ट्रायल में भाग लेने के लिए कैसे करें संपर्क

कोवैक्सीन (Covaxin Update) के अध्ययन के प्रमुख ने यह जानकारी दी थी कि यदि कोई बाहर का व्यक्ति इस ट्रायल का हिस्सा बनना चाहता है तो वह नीचे दी गई जानकारी के जरिए संपर्क कर सकता है। संस्थान इन संपर्क करने की डिटेल्स को अपनी वेबसाइट पर भी डाल सकता है।

ईमेल: [email protected]
SMS या कॉल: 7428847499

5.कहाँ बनी है COVAXIN

Covaxin को हैदराबाद की भारत बायोटेक ने आईसीएमआर (ICMR) और नेशनल इंस्टिट्यूट वायरोलॉजी (Indian Institute Of Virology) के साथ मिलकर बनाया है। तैयार की गई को वैक्सीन को ह्यूमन ट्रायल (Covaxin Human Trial) के लिए हाल ही में ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) से अनुमति मिली है।

आपको बता दें कि अभी तक को वैक्सीन का ट्रायल पटना के एम्स (AIIMS Patna) और कुछ अन्य साइटों में शुरू हो चुका है। ये भी जान लीजिए की अभी तक DCGI ने दो वैक्सीन की अनुमति दी है। जिनमें से एक भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड द्वारा ICMR के सहयोग से बनाई गई है वहीं दूसरी Zydas Cadila Healthcare Ltd ने बनाई है।

आगे की खबर के लिए बने रहे The Toss News के साथ

ये भी पढ़े :

Mahima Nigam

Mahima Nigam

महिमा एक चंचल स्वभाव कि लड़की है और रियल लाइफ में खेलकूद करने के साथ इन्हें शब्दों के साथ खेलना भी काफी पसंद है। बता दें कि इस वेबसाइट को शुरू करने का सपना भी महिमा का है और उसे मंज़िल तक पहुंचाने का भी। उम्मीद करते हैं कि आप साथ देंगे