संसद के मानसून सत्र में कोरोना वायरस का साया

संसद के मानसून सत्र में कोरोना वायरस का साया
▶️ स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइंस के तहत सभी सांसदों का कोविड टेस्ट होना जरूरी
▶️ संसद में नहीं होगा प्रश्नकाल, शून्यकाल भी केवल आधा घंटा
▶️ तमाम दिशा-निर्देश और नई व्यवस्थाओं के बीच 14 सितंबर से 1 अक्टूबर तक चलेगा संसद का मानसून सत्र

Monsoon Session Parliament 2020: देश में कोरोनावायरस के लगभग 47 लाख के पार पहुंच चुके हैं। बीते दिनों से दुनियाभर में कोरोना के सर्वाधिक मामले भारत में आ रहे हैं। तमाम विपरीत परिस्थितियों के बीच संसद का मानसून सत्र कल यानी सोमवार से शुरू होने जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय (ministry of health) के नियमानुसार सभी सांसदों का कोविड टेस्ट होना जरूरी हैं।

मानसून सत्र से पहले लोकसभा के पांच सांसद कोविड-19 पॉजिटिव

कोरोना महामारी के बीच सोमवार से संसद का मानसून सत्र शुरू होने जा रहा है। संसद की कार्रवाई में हिस्सा लेने से पूर्व सभी सांसदों को स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइंस का पालन करना अनिवार्य हैं। गाइडलाइंस के तहत ही सभी सांसदों को अपना कोविड टेस्ट कराना हैं। टेस्ट नेगेटिव आने के बाद ही सांसद संसद सत्र में भाग ले सकते हैं। इन्हीं नियमों का पालन करते हुए सभी सांसद अपना कोविड टेस्ट करा रहे हैं। रिपोर्ट आने पर लोकसभा के पांच सांसद पॉजिटिव पाए गए हैं। कई सांसदों की रिपोर्ट आनी बाकी हैं।

संसद में स्वास्थ्य से जुड़े पुख्ता इंतजाम

5 MPs corona positive before monsoon session parliament

18 दिवसीय मानसून सत्र के दौरान संसद में कई बदलाव किए गए हैं। सांसदों को कई नए नियमों का पालन भी करना होगा। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने नए नियम और बदलाव की जानकारी दी।

1. कागज का कम से कम उपयोग किया जाएगा।

2. सांसदों की उपस्थिति डिजिटल माध्यम से की जाएगी।

3. थर्मल गन और थर्मल स्कैनर (thermal scanner) के माध्यम से संसद में प्रवेश करने वाले सभी लोगों का तापमान नापा जाएगा।

4. संसद के भीतर 40 जगह पर टचलेस सैनिटाइजर (touchless sanitizers) लगाए जाएंगे।

5. आपातकालीन मेडिकल टीम और एंबुलेंस (ambulance) की सुविधा होगी।

6.सांसदों को कोविड-19 से जुड़े तमाम दिशा निर्देशों का भी पालन करना जरूरी होगा।

बदला-बदला नजर आएगा संसद

कोविड-19 (COVID-19) की वजह से संसद की कार्यवाही में भी बड़े बदलाव किए गए हैं। ओम बिड़ला ने कहा, 257 सांसदों को सदन के मुख्य कक्ष में और 172 सांसदों को आगंतुकों की गैलरी में बैठाया जाएगा। इसके अलावा लोकसभा (Lok Sabha) के 60 सदस्य राज्यसभा (Rajya Sabha) के मुख्य कक्ष में बैठेंगे। इसके अलावा 51 सदस्य उच्च सदन (राज्यसभा) की गैलरी में बैठेंगे। दिलचस्प बात यह है कि राज्यसभा कक्ष में बैठे सदस्य लोकसभा की कार्यवाही में भाग लेंगे। एलईडी स्क्रीन लगाई जाएंगी। प्रश्न केवल लिखित माध्यम से पूछे जाएंगे।

पहले दिन यानी 14 सितंबर को संसद की कार्यवाही सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक ही होगी। बाकी 17 दिनों की कार्यवाही 1 बजे से शाम 7 बजे तक होगी। शनिवार और रविवार को भी संसद की कार्यवाही होगी। ओम बिरला ने रविवार को तैयारियों का जायजा लिया। कोरोना महामारी के बीच विपक्षी के पास आर्थिक संकट, स्वास्थ्य व्यवस्था, सीमा विवाद, बेरोजगारी जैसे मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने का अच्छा मौका हैं।

आगे पढ़ें

Mahima Nigam

Mahima Nigam

महिमा एक चंचल स्वभाव कि लड़की है और रियल लाइफ में खेलकूद करने के साथ इन्हें शब्दों के साथ खेलना भी काफी पसंद है। बता दें कि इस वेबसाइट को शुरू करने का सपना भी महिमा का है और उसे मंज़िल तक पहुंचाने का भी। उम्मीद करते हैं कि आप साथ देंगे