Punjab में ज़हरीली शराब पीने से 20 से 21 लोगों की मौत, एक्शन में आई Amrinder सरकार, दिए जांच के आदेश

Punjab में ज़हरीली शराब पीने से 20 से 21 लोगों की मौत, एक्शन में आई Amrinder सरकार, दिए जांच के आदेश
▶️ पंजाब में ज़हरीली शराब से हो चुकी हैं अब तक 21 लोगों की मौत
▶️ शराब से सरकार को होता है बेहद फायदा, इसलिए नहीं करते हैं बैन
▶️ राजस्व में शराब निभाती है बड़ी भूमिका, पंजाब में आत्मघाती सिध्द हुई शराब

शुक्रवार को पंजाब के तरनतारन गांव में ज़हरीली शराब से मरने वालों की संख्या 20 के पार पहुंच गई। अब तक कुल मृतकों की संख्या 21 है। पंजाब में कई जगहों पर ज़हरीली शराब बिकने के बाद यह खबर सामने आई है। वहीं अब इतनी अधिक मौतों के बाद पंजाब के कैप्टन अमरिंदर की सरकार फ़ौरन एक्शन में आ गई है और सीएम अमरिंदर ने तुरंत इस विषय में जांच के लिए आदेश दिए हैं।

एसडीएम (ADM) के द्वारा होगी मामले की जांच

डीसी कुलवंत सिंह (D.C. Kulwant Singh) का इस मामले में कहना है कि इस केस में एसडीएम रजनीश अरोड़ा को तैनात किया जा रहा है वो इस मामले की भली प्रकार से जांच करेंगे जिसमें उन्हें गांव वालों की बयान और उस पर तैयार रिपोर्ट जमा करानी होगी। अब तक अवैध शराब का व्यापार करने वाले 7 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा चुका है।

20 people die in Punjab after consuming adulterated liquor hindi news

अगर बात अकेले तरनतारन जिले के करें तो गुरुवार को वहां अकेले 10 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है इससे पहले भी पिछले शनिवार को तीन लोगों की कच्ची शराब पीने की वजह से मौत हो चुकी है। जहां परिवार ने पुलिस को सूचित किए बिना ही मृतकों का अंतिम संस्कार कर दिया था। मृतकों की पहचान 48 वर्षीय रौनक सिंह, 50 वर्षीय जोगिंदर सिंह, तथा 27 वर्षीय युवक सुरजीत सिंह के रूप में हुई है

आखिरकार क्यों नहीं लग रही है शराब पर रोक सरकार को शराब से कितना होता है फायदा?

अगर बात शराब की करें तो हर साल कई लोगों की मौत जहरीली शराब पीने की वजह से हो जाती है। लेकिन इसके बाद भी शराब पर रोक नहीं लगती, आखिर इसके पीछे कारण क्या है? आपको बता दें की शराब पर रोक लगाना या ना लगाना सरकार के हाथ में होता है और शराब में सरकार के राजस्व का एक बहुत बड़ा भाग होता है, इसीलिए शराब पर चाह कर भी रोक नहीं लगाई जा सकती है। वरना सरकार को बड़ा भारी नुकसान झेलना पड़ेगा।

क्या है शराब बंद करने के नुकसान और फायदे?

जिन लोगों को शराब की लत है उन लोगों के लिए शराब अमृत के समान है इसीलिए ज्यादातर लोग इस बात की परवाह नहीं करते कि वह शराब जहरीली भी हो सकती है। यहां आपको शराब के कुछ फायदे और नुकसान बताए जा रहे हैं-

नुकसान

*शराब सरकार के राजस्व में बड़ी अहम भूमिका निभाती है इसीलिए शराब को बंद करने से सरकार को भारी नुकसान होगा।

*शराब बंद होने से अचानक मरने वालों की संख्या बढ़ जाएगी क्योंकि कई लोगों को इसकी लत लग चुकी है और वह उसके बिना नहीं रह सकते हैं।

*शराब पीने से व्यक्ति को अक्सर उसके लत लग जाया करती है जिसके बाद वह उसकी आदत में शुमार हो जाती है। और उसे छोड़ना बहुत कठिन होता है। व्यक्ति को यह भी समझ नहीं आता कि उस समय उसकी आर्थिक स्थिति कैसी है।

फ़ायदे

*शराब ने कई लोगों की घरों में आग लगाने का काम किया है और उनकी जिंदगी तक उनसे छीन ली है। शराब बंद होने से हो सकता है लोग शराब के बाहर की दुनिया को देख पाएं।

*शराब बंद होने के बाद शराब से मरने वालों की संख्या भी कम हो जाएगी जिसके बाद शराब के कारण बीमारियों में लग जाने वाला खर्चा भी परिवार को नहीं उठाना पड़ेगा।

*शराब बंद होने से शराब से होने वाली बीमारियों पर रोक लगेगी।

जिस तरह से हर दिन शराब से होने वाली बीमारियों की अफवाहें उठती हैं और लोगों की जान चली जाती है इसके हिसाब से देखा जाए तो शराब पर रोक लग जानी चाहिए।

आगे पढ़ें

Diksha Gupta

Diksha Gupta

दीक्षा उन लेखकों में से हैं जिनको शब्दों से बेहद प्यार हैं। और इन शब्दों को खूबसूरत तरीके से पन्ने पर उतारना दीक्षा को काफ़ी पसंद है। आप सब तक ख़बरें पहुंचाने के अलावा दीक्षा को कविताएं लिखना भी पसंद है। शौक की बात करें तो दीक्षा डांस में भी रूचि रखती हैं। और एक ऐसी लड़की हैं जिन्हें नई चीज़ें सीखने में मज़ा आता है। दीक्षा का मानना है की वह लक्ष्य कि प्राप्ति के लिए ही ईश्वर पर और खुद पर विश्वास करना पसंद करती हैं.